aakrosh4media तक अपनी खबरे व् शिकायत पहुंचाने के लिए aakrosh4media2016@gmail.com पर मेल करें आप आक्रोश के सम्पादक संजय कश्यप को अपनी खबरे व् शिकायत WhatsApp भी कर सकते है WhatsApp NO है 9897606998, 9411111862, 7417560778

आखिर अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ की स्थापना की जरुरत क्यों पङी

मित्रों एक पत्रकार होने के बाद मैने ब्यक्तिगत रुप से मैने लोकतंत्र के सबसे महत्वपूर्ण अंग पत्रकारिता मे लगे हुए पत्रकारों की दुर्दशा और अमानवीय उत्पीड़न पर गहन और सूक्ष्म अध्ययन किया। पता चला कि समाचार जगत से जुडे हुऐ संस्थान प्रकाशन ब्यवस्था को बङी मुश्किलों से चला पाते है ऐसे मे वे पत्रकारों को मानदेय या उचित पारिश्रमिक भी नही दे पाते। सर्वाधिक संस्थान निशुल्क पत्रकारिता ही करवाने को विवश रहते हैं लेकिन जिन पत्रकारों के अंदर देश सेवा व समाज सेवा का जज्बा है वे पत्रकारिता जरुर करेंगे। भले जब वे शाम को जब घर लौटे तो उन्हे नमक व रोटी की भी किल्लत हो उनकी अति आवश्यक की जरुरत भी पुरी नही हो पाती। सत्य पथ पर चलने के आदत के कारण पत्रकारों के साथ राजनैतिक व सामाजिक शोषण भी किया जाता है उन्हे बाहबली और माफियाओं के अमानवीय यातना झेलने के साथ उनकी सरेआम निर्मम हत्याये तक कर दी जाती है उनकी मौत के बाद उनके आश्रित पत्नी व बच्चे बिलखते है लेकिन आजादी के बाद केन्द्रीय सरकारों के साथ प्रांतीय सरकारों ने तनिक भी ध्यान नही दिया। हालाकि पत्रकार हितो हेतू तमाम संगठन अस्तित्व मे आये लेकिन वे भी पत्रकारों का हितों का संवर्धन पुरी तरह करने मे असफल रहे और जुझते रहे। *मैने संकल्प कर लिया था पत्रकारों के मान सम्मान के रक्षा व हितो के लिये अपने आप को मिटाकर भी एक ऐसे संगठन बना दूंगा जो पत्रकार हितों के लिये बेहतरीन ढंग से काम करे* *अब जरुरत थी एक ऐसे नेतृत्व कर्ता व संघर्ष की क्रान्ति जला देने वाले महान ब्यक्ति का।*

खोज पुरी हुयी और इस महान अलख को जगाने के लिये संघर्षो की महान प्रतीमुर्ति  के रुप मे श्री अम्बरीष कुमार पांडेय जी मिले मैने उनमे देखा था वह जज्बा चाहे वह कोई भी पत्रकार हो उनके हितो के लिए जी जान लगा देने का जज्बा था और वह पुरा हुआ और आज अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ के रुप मे विशाल संगठन सामने है।* यह संगठन राष्ट्रीय स्तर पर सभी प्रदेशों मे पत्रकारों के हित के लिए काम करेगा मीडिया जगत से जुड़े पत्रकारों के हितों व सम्मान के संरक्षण के लिये पत्रकार हित सर्वोपरि है। किसी भी सूरत मे पत्रकारों के हितकर सवाल के नाम पर कोई समझौता नही होगा चाहे अंजाम परिणाम जो भी हो। क्योंकि इस संगठन का जन्म आंदोलन की कोख और सच्चाई के लिये कुर्बानियों से हुआ है। आजादी से लेकर अब तक भारत के सदन व भाऋत के सभी प्रदेशों के सदन मे पत्रकार हितों व संरक्षण के लिए कोई प्रश्न नही उठाया गया जो काफी दुर्भाग्यपूर्ण है सबसे दुख की बात यह है कि संगठनों की संख्या तो हम नही बता सकते लेकिन इतना तो हम जरुर बता सकते है भारत सरकार की तो बात ही छोडिये प्रदेश की सरकारे तक उनको नही जानती है लेकिन बडे सौभाग्य की बात है अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ को भारत के प्रधानमंत्री सहित तमाम माननीयों के द्वारा उक्त संगठन सहित पदाधिकारियों को नाम पद के साथ संज्ञान मे ट्विटर पर ट्वीट के साथ बधाईयाँ व सहयोग देने का ताँता लगा हुआ है जिससे पदाधिकारी संगठन हित मे दिन रात एक कर दिये हैं मात्र चार दिन के अंदर एक राष्ट्रीय अध्यक्ष, दो प्रदेश अध्यक्ष, छ: जिला अध्यक्ष, दो मंडल अध्यक्ष, छ:तहसील अध्यक्ष, पचास सदस्य की घोषणा कर दी गयी और यह लोग कर्मबीर के रूप मे धरातल पर संगठन के कार्य को बखूबी अंजाम दे रहें हैं।

कारवां निर्माण का रोको नहीं ,

है सृजन की कामना तो साथ दो,साथ दो, साथ दो।।

घनश्याम प्रसाद सागर राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ के द्वारा आप सभी पत्रकार मित्रों, साथियों, शुभचिंतकों की सेवा मे अवलोकनार्थ, वाचनार्थ,सूचनार्थ सादर समर्पित।

जय हिन्द।जय पत्रकार।।जय कलमकार ।।। जय पत्रकारिता।।।

आक्रोश4मीडिया इंडिया का no1 मिडिया पोर्टल है सिर्फ पत्रकार बन्धुओ के सहयोग से ही चल रहा है aakrosh4media.com हम व् हमारी आक्रोश की पूरी टीम आपकी राय और सुझावों की कद्र करती हैं। अतः आप अपनी राय, शिकायत , सुझाव और ख़बरें हमेंThis email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it. पर भेज सकते हैं या 9358606998 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। आक्रोश की आईडी है https://www.facebook.com/Aakrosh4media-608693262635672/ या आप ट्वीटर आईडी @aakrosh4media24 पर भी फॉलो कर सकते है