aakrosh4media तक अपनी खबरे व् शिकायत पहुंचाने के लिए aakrosh4media2016@gmail.com पर मेल करें आप आक्रोश के सम्पादक संजय कश्यप को अपनी खबरे व् शिकायत WhatsApp भी कर सकते है WhatsApp NO है 9897606998, 9411111862, 7417560778

शहर दर शहर

पत्रकारों के हितों के लिये सरकार को गम्भीर पहल करना ही होगा

अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष घनश्याम प्रसाद सागर ने कहा कि स्वच्छ,पारदर्शी एव भ्रष्टाचार मुक्त लोकतंत्र के लिए भारत सरकार सहित प्रान्तीय सरकारो को नए सिरे से गम्भीर पहल करनी चाहिये । पत्रकारों की सुरक्षा के साथ सरकारी स्तर पर प्रतिमाह मासिक पेंशन देने के लिये यदि जरुरत हो तो संविधान संशोधन कर पत्रकारों के लिए कानून भी बनाया जाना न्यायोचित होगा।

देश भर के पत्रकारों के हितों के लिए गठित अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ इस संबंध मे केन्द्र व प्रदेश सरकारों से मिलकर यह महत्वपूर्ण मुद्दा रखने का प्रयास करेगा। सरकार और आम जनता के बीच पत्रकार अपनी जान की बाजी लगाकर सत्य घटनाओं,भ्रष्टाचार का खुलासा करते है चाहे न्यायिक प्रक्रिया हो या चाहे कार्यपालिका या विधायिका हो अथवा शासन प्रशासन के सभी महत्वपूर्ण कार्यो मे पत्रकार अपनी भूमिका निभाते हैं सविधान विशेषज्ञों की राय लेकर इस मुद्दे पर गहन विचार करते हुये त्वरित कदम उठाया जाना उज्ज्वल व समृद्धशाली भारत निर्माण मे अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा। सोचने की बात है कि केन्द्र व प्रदेश सरकार जहाँ आम जनता मे पेंशन योजनायें लागू करती है वहीं पत्रकारों के लिए तनिक भी कदम नही उठाती देश भर मे सर्वाधिक नि:शुल्क पत्रकारिता करने वाले राष्ट्र के सजग प्रहरी पत्रकार आज भी कठीन जीवन जीने को बाध्य हैं पत्रकारो के बच्चे शिक्षा व स्वास्थ्य से वंचित हो रहें हैं तमाम पत्रकारों के परिवारों मे आज भी भूखमरी व गरीबी का अमानवीय दृश्य देखने को मिलता है। सरकारें अपना प्रचार व प्रसार करवाने के नाम पर जनसंपर्क एव सूचना निदेशालय के माध्यम से खरबों रुपये पानी की तरह बहा देतीं है अगर जनसम्पर्क एव सूचना निदेशालय के अंतर्गत सभी नि:शुल्क पत्रकारिता कर रहे पत्रकारों को मासिक पेंशन भी देती तो शायद देश का कायाकल्प हो जाता संविधान विशेषज्ञों की राय है कि देश का सूचना तंत्र जितना ही पुष्ट और मजबूत होगा लोकतंत्र पूर्ण रुपेण स्वत: ही मजबूत हो जायेगा।
अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ अभी सम्पूर्ण राष्ट्र मे सभी प्रदेशों मे संगठन विस्तार का कार्य कर रहा है जो विधिक रुप से जनवरी 2018 से अपने अस्तित्व मे आकर पत्रकार हितो के लिए संघर्ष का ऐलान कर देगा हम सभी मांगों को संवैधानिक तरीके से केन्द्र व प्रदेश सरकारो से लेकर ही रहेंगे।*  *संगठन विस्तार के लिए पुरे भारत को दो जोन मे बांट कर उत्तरी व दक्षिणी मिशन के रुप टीम अपने मिशन पर है। नवम्बर तक संगठन विस्तार का कार्य पूर्ण कर लिया जायेगा सभी जुझारु कर्मबीर साथी तन,मन,धन से लगातार संगठन विस्तार मे लगे हुये है। उत्तर प्रदेश के प्रदेशाध्यक्ष श्री अम्बरीष कुमार पान्डेय ने बताया कि सितम्बर के अन्दर प्रदेश मे जिला व तहसील का गठन कर पदाधिकारियों की घोषणा हर हाल मे कर दिया जायेगा अक्टूबर माह मे केवल बैठकों का काम किया जायेगा और पत्रकार हितों के लिए संघर्षो का काम भी किया जायेगा।*

घनश्याम प्रसाद सागर

आक्रोश4मीडिया इंडिया का no1 मिडिया पोर्टल है सिर्फ पत्रकार बन्धुओ के सहयोग से ही चल रहा है aakrosh4media.com हम व् हमारी आक्रोश की पूरी टीम आपकी राय और सुझावों की कद्र करती हैं। अतः आप अपनी राय, शिकायत , सुझाव और ख़बरें हमेंThis email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.  पर भेज सकते हैं या 9358606998 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। आक्रोश की आईडी है https://www.facebook.com/Aakrosh4media-608693262635672/ या आप ट्वीटर आईडी @aakrosh4media24 पर भी फॉलो कर सकते है 

अब समय आ गया है भारतीय लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ पत्रकारिता को अपनी ताकत दिखाने का:घनश्याम प्रसाद सागर

गुलामी की  जंजीरों मे भारत जकङ गया था उस समय कलम के सिपाही स्वतंत्रता के लिए जी जान से निडर होकर अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ जंग लङ रहे थे क्रुर अंग्रेज तमाम भारत माता के सच्चे सपूत पत्रकारों को गिरफ्तार कर उनकी निर्मम हत्याये कर रहे थे उस समय के तमाम पत्रकार गुमनामी के आगोस मे समाप्त हो गये लेकिन गांधी जी के साथ अहिंसक आन्दोलन करने वाले नेता जवाहरलाल नेहरु,मौलाना आजाद,सरदार वल्लभ भाई पटेल के साथ क्रान्तिकारी मिशन से जुडे चंद्रशेखर आजाद,सरदार भगत सिह ,अशफाक उल्लाह खान,पंडित राम प्रसाद बिस्मिल जंगलों मे छुप कर अग्रेजी हुकुमत के खिलाफ अपनी कलम से जन जागरण कर भारत की जनता मे आजादी का प्राण फूक रहे पत्रकारों का नमन कर रहे थे। देश आजाद हुआ संविधान सभा बनायी गयी और संविधान सभा के तमाम सदस्यों ने पत्रकारों के योगदान पर समित को परामर्श दिया था लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ के रूप मे पत्रकार व पत्रकारिता को विधिक मान्यता दी जाये तमाम विचार विमर्शो के बाद यह तय हुआ था कि आगे चलकर संविधान मे संसोधन कर पत्रकारिता को कार्यपालिका ,विधायिका व न्यायपालिका की तरह वह सारे सुविधा दी जायेगी जो सविधान मे वर्णित मौलिक अधिकार व संवैधानिक हो। लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण रहा सात दशक बीतने के बाद भी पत्रकारो पर तनिक भी ध्यान नही दिया गया आज पत्रकारों की दशा क्या है यह बताने की जरुरत नही है।लेकिन अब समय आ गया है जब पत्रकार व पत्रकारिता अपनी ताकत दिखायेगी। अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ की कभी न बुझने वाली मशाल अब जल चुकी है जो देश की संसद मे और सभी प्रान्तो मे अपनी प्रतिनिधित्व लेकर ही रहेगी। इसके लिए सबसे पहले इसकी शुरुआत उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ मे और फिर देश की राजधानी नई दिल्ली के जंतर मंतर पर धरना देकर देश सहित सम्पूर्ण विश्व का ध्यान पत्रकारों के संवैधानिक अधिकारों,पुर्ण सुरक्षा,सभी सुविधाओं के लिए ध्यान केन्द्रित करायेगी। पुरे देश के सभी प्रान्तों मे संगठन बिस्तार का काम युद्ध स्तर पर निरन्तर जारी है। इस महामिशन मे अच्छे व अनुभवी जुझारु लोगो को लगाया गया है जिसका सुखद परिणाम शीघ्र ही सामने होगा।अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ इस दिशा मे महत्वपूर्ण कदम आगे बढा चुका है। एक ऐसा शक्तिशाली महासंघ जो माननीयों को सोचने पर बिबश कर देगा हमे हमारा अधिकार चाहिये लेकर रहेंगे। संगठन मे जुडने वाले सभी पत्रकार साथियों का हम ह्रदय से आभार प्रकट करते है आप कारवां को आगे बढाते रहो हम सभी मिलकर भारत के इतिहास मे वह अध्याय लिख कर ही जायेंगे हम रहें ना रहे लेकिन हमारी आने वाली पत्रकारों की पीढियां सभी सुख सुविधाओं से युक्त रह कर देश व समाज मे अपने कलम से सबके साथ न्याय और मानव अधिकारों की दिलवा सकें।* *पत्रकारों के लिए  अखिल भारतीय सर्वहितकारी महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष घनश्याम प्रसाद सागर ने कहा कि संगठन यह सुनिश्चित करने का काम करेगा कि पत्रकारों के आश्रितों को माध्यमिक शिक्षा स्तर तक मुफ्त शिक्षा मिले और आश्रितों को गम्भीर बिमारियों मे मुफ्त चिकित्सा की सुविधा सुनिश्चित किया जाय इसके लिए संगठन केन्द्र सरकार और प्रदेश सरकारों से मिलकर इस पर गम्भीर पहल भी करेगा।*

*यह हिन्द! जय पत्रकारिता!!*

*घनश्याम प्रसाद सागर*
*राष्ट्रीय अध्यक्ष*
*अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ,भारत*

*नोट : देश के विभिन्न प्रदेशों/जिलों से पत्रकार हितों मे अपनी सक्रिय सहयोग करने वाले अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ के महा मिशन से जुडने के लिए इन नम्बरों पर सम्पर्क करें 9450070381,9532313923,8808478878,9453013386*

आक्रोश4मीडिया इंडिया का no1 मिडिया पोर्टल है सिर्फ पत्रकार बन्धुओ के सहयोग से ही चल रहा है aakrosh4media.com हम व् हमारी आक्रोश की पूरी टीम आपकी राय और सुझावों की कद्र करती हैं। अतः आप अपनी राय, शिकायत , सुझाव और ख़बरें हमेंThis email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.  पर भेज सकते हैं या 9358606998 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। आक्रोश की आईडी है https://www.facebook.com/Aakrosh4media-608693262635672/ या आप ट्वीटर आईडी @aakrosh4media24 पर भी फॉलो कर सकते है 

वरिष्ठ गौरी लंकेश कि हत्या के  विरोध में पत्रकारो ने निकाला कैंडिल मार्च

महिला पत्रकार कि हत्या के मामले मे पत्रकारो में काफी रोष देखने को मिला जिसके चलते  उ०प्र०में भी कई पत्रकारो कि निर्मम हत्याएें हुई है । इस तरह से पत्रकारो पर हमले और उनकी हत्याओं को बर्दास्त नही किया जायेगा इस तरह कि घटनाओ पर देश कि सरकारो कि पत्रकारो ने घोर निन्दा करते हुये कहा अगर देश कि सरकारो ने जल्द ही पत्रकार सुरक्षा कानून नही लागू नही किया तो देश में पत्रकारो ने अान्दोलन करते कि बात कही है। इसके लिये प्रिन्ट और इलेक्ट्रानिक दोनो एक पैदान पर खडे होने कि सलाह भी दी है । जिले के पत्रकारो ने विरोध करते हुये महिला पत्रकार को श्रधांज्ली दी ।
शाहजहाँपुर में अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति के पदाधिकारियों ने वरिष्ठ महिला पत्रकार गौरी लंकेश कि निर्मम हत्या के मामले मे विरोध प्रदर्शन कैंडिल मार्च के रूप मे निकाल कर शहीद पत्रकार को श्रधांजलि दी इस विशाल कैंडिल मार्च को अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति के जिला अध्यक्ष मो०राशिद इदरीसी के नेतृत्व में सुचना विभाग कार्यालय से प्रारम्भ कर शहीद स्तंम्भ खिन्नी बाँग पर समापन किया गया इस मार्च मे भारी तादात मे पत्रकार शामिल हुये और पत्रकारो कि हत्याओ पर वरिष्ठ पत्रकार श्री रमेश शंकर पाण्डेय ने देश कि सरकारो पर खासा गुस्सा जाहिर किया और कहा कि देश कि सरकारो ने पहले पत्रकार के पेट पर विग्यापन खत्म कर वार किया उसके बाद सैकडों पेपर कि मान्यता खत्म कर पत्रकारो को खत्म करने का प्रयास किया और अब काफी लम्बे समय से पत्रकारो कि लगातार हत्याओ कि बारदातें और उनपर हमलें कही न कही पत्रकार और पत्रकारिता दोनो को खत्म करने कि साजिश कि जा रही है लेकिन एैसा नही होगा इसके लिये देश के सभी पत्रकारो को एक जुटता दिखाने कि आवश्यकता है ।
इस पर जिला अध्यक्ष मो०राशिद इदरीसी ने अपने बक्तव्य मे कहा कि शुरू से पत्रकारो को शासन और प्रशासन दोनो का पत्रकारो को देखने का नज़रिया विल्कुल अलग ही दिखाई पडता है। क्योकिं लोकतंन्त्र का चौथा स्तंम्भ कहलाने बाला पत्रकार हर मौसम मे समाजहित मे काम करता है । पर उसकी मौत पर कोई नेता समाजसेवी दो शब्द क्यों नही कहता बो इस लियें क्योंकि बो भी उन लोगो मे से ही होतें है जो मतलव के समय पत्रकारो को याद करते है जब खुद को सुर्खिया में लाना हो या जनता को न्याय पाना होता है तब पत्रकारो को याद किया जाता है लेकिन क्या बात है। जो पत्रकारो कि मौत और हमलों पर देश कि जनता और समाज सेवी आज एक शब्द नही बोल रहे है। आखिर क्यों खामोश है।
इस पर जिला महासचिव अफरोज खाँ ने कहा हम पत्रकार है। हमारे बजूद को अकसर देश कि सरकारे और आलाधिकारी लल्कारते आयें है मगर हमारे पत्रकार साथी उस तिलसकार को सम्मान समझ कर अपना काम विना किसी स्वार्थ के करते रहे और केन्द्र सरकार ने सत्ता मे आने से पहले सबके साथ सबके विकास का नारा देकर भारी बहुमत से जीत हासिल कि पर पत्रकारो के हित कि बात आज तक किसी सरकार ने नही की। लेकिन अब पत्रकारो पर हमलो को किसी कीमत पर बरदास्त नही किया जायेगा क्योंकि अब पत्रकारो ने अपना सीना खोल दिया है देखे कितनी गोलिया सरकार अपने गुर्गो से हम पत्रकारो पर बरस वायेगी क्योकि किसी भी पत्रकार कि हत्या मे किसी नेता या अधिकारी का जरूर हाथ होता है यही बजह है। पत्रकारो के परिवार घटना के बाद थानो के चक्कर काटते रह जाते है और एक दिन फाईल बन्द हो जाती है । जिसकी हम सभी घोर निन्दा करते है इस मौके पर प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रूखसार प्रमोद श्रीवस्तव  मो०जाबेद ,मुफीद खाँन ,ग्यान प्रकाश सक्सेना ,शहरोज़ खान आन्नद शर्मा ,चन्दन, संजय,नरेन्द्र कुमार शैलेन्द्र चौहान आदि भारी संख्या मे पत्रकार मौजूद रहे ।

अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति उ०प्र० शाहजहाँपुर जिलाध्यक्ष मो०राशिद इदरीसी
9389088107/7310391928

आक्रोश4मीडिया इंडिया का no1 मिडिया पोर्टल है सिर्फ पत्रकार बन्धुओ के सहयोग से ही चल रहा है aakrosh4media.com हम व् हमारी आक्रोश की पूरी टीम आपकी राय और सुझावों की कद्र करती हैं। अतः आप अपनी राय, शिकायत , सुझाव और ख़बरें हमेंThis email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.  पर भेज सकते हैं या 9358606998 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। आक्रोश की आईडी है https://www.facebook.com/Aakrosh4media-608693262635672/ या आप ट्वीटर आईडी @aakrosh4media24 पर भी फॉलो कर सकते है

मजीठिया की जंग: दस दिन में भेजें नेशनल यूनियन की सदस्यता सूची

मजीठिया वेजबोर्ड को पूरी तरह लागू करवाने की जंग को अंजाम तक पहुंचाने के लिए बनाई जा रही नेशनल यूनियन के गठन के लिए सभी राज्यों के मजीठिया क्रांतिकारियों से निवेदन है कि वे अपने क्षेत्र या राज्य में मजीठिया वेजबोर्ड की लड़ाई  लड़ रहे या इसमें शामिल होने के इच्छुक साथियों की सूची नीचे दिए जा रहे फारमेट के अनुसार तैयार करके ए-4 कागज पर प्रिंट करने के बाद सदस्यों के हस्ताक्षर करवाकर दस दिनों के भीतर भिजवाने की व्यवस्था करवाने का कष्ट करें। इसके अलावा इसी फारमेट के अनुसार बनाई गई सूची की साफ्ट कापी में सदस्य के संस्थान और उसके पद की अतिरिक्त जानकारी भी भर कर मेल करने का भी कष्ट कीजिएगा।
नीचे दिया गए फारमेट को ही प्रिंट करने के बजाय इसी तरह की डॉक्युमेंट फाइल बनवा कर टाइम या एरियल फांट में १० या १२ साइज में यह जानकारी टाइप करवाएं। एक ही फाइल में सभी साथियों की जानकारी टाइप की जाए। सिर्फ सीरियल नंबर का कॉलम खाली रखा जाए, ताकि अगर जरूरत पड़ी तो इसे बाकी साथियों की सदस्यता सूची अनुसार नंबर डालकर पंजीकरण के लिए इस्तेमाल किया जा सके। इससे सभी साथियों को एक जगह एकत्रित होने की असुविधा और खर्च से बचा जा सकेगा। जो साथी अपनी जानकारी गोपनीय तौर पर भिजवाना चाहते हैं, वे सिर्फ नीचे दी गई मेल आईडी के माध्यम से जानकारी भेज सकते हैं। इन्हें सदस्यता फार्म मेल के माध्यम से भेज दिया जाएगा। वहीं बाकी साथियों को भी सदस्यता फार्म भिजवाने की व्यवस्था बाद में की जाएगी।   
 
फिलहाल पहले पंजीकरण का कार्य करने के अलावा बैंक खाता खोलने और अन्य आवश्यक औपचारिकताएं पूरी करने के बाद ही सदस्यता फार्म भरवाए जाएंगे और शुल्क इत्यादि की प्राप्ति के साथ ही सभी सदस्यों और पदाधिकारियों को यूनियन के आईकार्ड भी जारी किए जाएंगे। पहले पंजीकरण के लिए गठित कार्यकारिणी के पदाधिकारी बाकी साथियों की सुविधानुसार सभी राज्यों का दौरा भी करेंगे। फिलहाल इस यूनियन के गठन का मकसद किसी अन्य यूनियन को नीचा दिखाना या इन्हें टक्कर देना नहीं है, बल्कि इनके सदस्यों व पदाधिकारियों को भी इसमें जुडऩे का निमंत्रण दिया जाता है, ताकि अखबारों में कार्यरत, निलंबित, निष्कासित या सेवानिवृत कर्मचारियों को राष्ट्रीय मंच प्रदान किया जा सके। 
 
फिलहाल यूनियन का प्रथम मकसद मजीठिया वेजबोर्ड को अक्षरश: लागू करवाना और अखबार कर्मियों के साथ की जा रही ज्यादतियों को रोकना रहेगा। इसके लिए मालिकों की संस्था से सीधे बात करने के अलावा इन्हेें कटघरे में खड़ा करने के लिए एकजुट कोशिश की जाएगी। पिछली बार अलग-अलग गुटों में जंग लडऩे का नतीजा हम सब देख ही चुके हैं। लिहाजा एकजुट होकर सुनियोजित  तरीके से अपना हक लेने के लिए अब ऐसा कानूनी जाल बुना जाएगा, जिससे माननीय सर्वोच्च न्यायालय की आवमानना की परवाह किए बिना ज्यादतियां कर रहे अखबार मालिक बाहर ना निकल पाएं। वैसे भी किसी ने ठीक ही कहा है संघ यानि एकजुट होने में ही शक्ति निहित होती है। 
 
लिहाजा सभी साथी चाहें वे मजीठिया वेजबोर्ड के लिए कानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं या फिर किसी कारणवश जो लोग खुलकर सामने नहीं आ पा रहे हैं, वे इस यूनियन का सदस्य बनकर एक बड़ी ताकत के साथ अपनी आवाज बुलंद करने का अंतिम अवसर अपने हाथ से जाने न दें। यह यूनियन सिर्फ पत्रकारों की नहीं बल्कि सभी अखबार कर्मियों की यूनियन है। चाहें वे नियमित हों या फिर अनुबंध पर, कार्यरत हैं या फिर निष्कासित, या फिर नवंबर 11 के बाद सेवानिवृत्त हुए कर्मचारी सभी निसंकोच इस यूनियन के साथ जुड़ कर अपना हक प्राप्त करने की ताकत पा सकते हैं। यूनियन सभी के लिए लेबर विभाग और लेबर कोर्ट में चल रहे मुकद्दमों से जुड़ी कानूनी जानकारी मुहैया करवाने से लेकर हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट तक एकजुट होकर लड़ाई लडऩे की योजना पर काम करेगी। वहीं हाल ही में आए निर्णय के अनुसार नियमित और अनुबंध कर्मियों को भी उनका एरियार और नया वेतनमान दिलवाने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों पर भी दबाव बनाने की रणनीति पर काम करेगी। अन्य कई योजनाएं दिमाग में हैं, फिलहाल शुरुआत तीन अक्टूबर के बाद दिल्ली से की जाएगी। फिर यह आंदोलन पूरे देश में फैलेगा।
 
कुछ साथियों को इस बात को लेकर असमंजस है कि वे तो पहले से मौजूद यूनियनों के सदस्य या पदाधिकारी हैं, तो इन्हें स्पष्ट किया जा रहा है कि यह अच्छी बात है कि वे किसी यूनियन के संरक्षण में हैं। फिलहाल वे इस यूनियन की सदस्याता जरूर लें,क्योंकि हम एक ऐसा राष्ट्रीय मंच तैयार करने जा रहे हैं जो बाकी सबसे हटकर हो और असरदार उपस्थिति के साथ सबको चकित करके रख दे। पहले से यूनियनों में शामिल साथियों के अनुभव का भी इस यूनियन को फायदा मिलेगा। कुछ नया करना है तो दूसरों की लकीर को काटने के बजाय एक बड़ी लकीर खिंचना ही बेहतर विकल्प होता है। 
 
-रविंद्र अग्रवाल
पता: वार्ड-8, कॉलेज रोड कांगड़ा, जिला कांगड़ा हिमाचल प्रदेश-176001
संपर्क नंबर: 9816103265,9736003265,9418394382
ईमेल आईडी:  This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.
आक्रोश4मीडिया इंडिया का no1 मिडिया पोर्टल है सिर्फ पत्रकार बन्धुओ के सहयोग से ही चल रहा है aakrosh4media.com हम व् हमारी आक्रोश की पूरी टीम आपकी राय और सुझावों की कद्र करती हैं। अतः आप अपनी राय, शिकायत , सुझाव और ख़बरें हमेंThis email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.  पर भेज सकते हैं या 9358606998 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। आक्रोश की आईडी है https://www.facebook.com/Aakrosh4media-608693262635672/ या आप ट्वीटर आईडी @aakrosh4media24 पर भी फॉलो कर सकते है

अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ को सम्पूर्ण भारत मे त्वरित बिस्तार के लिए दिये गये निर्देश

अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ को सम्पूर्ण भारत मे त्वरित बिस्तार के लिए दिये गये निर्देश पुरे भारत मे बिस्तार के लिये उत्तरी व दक्षिणी मिशन की दो टीमे गठीत

आजाद भारत के इतिहास मे शायद प्रथम बार पत्रकारों के सर्वहित संवर्धन,उत्पीड़न,सम्मान,सुरक्षा और सभी संवैधानिक अधिकारो व सम्पूर्ण सुरक्षा के लिये अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ की स्थापना कर संगठन विस्तार मे हर पल लगे रहने के निर्देश दिये गये हैं। पुरे भारत वर्ष मे संगठन को बिस्तार मे अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष घनश्याम प्रसाद सागर ने पांच पांच सदस्यों की दो टीमो का गठन कर दक्षिण भारत व उत्तर भारत के सभी राज्यो मे एक साथ संगठन विस्तार के निर्देश दिये हैं। दक्षिण भारत  लगभग 18 राज्यों मे संगठन विस्तार के लिए टीम गठीत कर दी गयी है जो अपने महत्वपूर्ण मिशन पर है। साथ ही उत्तर भारत के  मे संगठन विस्तार के  लिए  टीम को मिशन पर लग कर  तीस नवम्बर तक कार्य पुर्ण करने के निर्देश दिये है। टीम मे जुझारू व प्रगतिशील लोगो को जगह दी गयी है उत्तर भारत के राज्यों देश की राजधानी दिल्ली,मध्य प्रदेश ,गुजरात, हिमाचंल प्रदेश,पंजाब,हरियाना,जम्मू एंड काश्मीर, उत्तराखंड,पश्चिम बंगाल,मिजोरम,त्रिपुरा,आसाम, जैसे प्रदेशों मे संगठन के विस्तार करने के निर्देश दिये गये है। जबकि उत्तर प्रदेश, और बिहार प्रान्त मे प्रदेश अध्यक्षो की घोषणा पहले ही की जा चुकी है जहाँ संगठन बङी तेजी  के साथ अपनी जडे मजबूत कर निरन्तर आगे बढ रहा है। संगठन के बिस्तार की चर्चा करते हुये अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष घनश्याम प्रसाद सागर ने बताया कि नवम्बर २०१७ तक सम्पूर्ण भारत के सभी राज्यो मे संगठन का बिस्तार अनिवार्य रुप से कर लिया जायेगा। और संगठन विधिक रुप से बर्ष  २०१८ जनवरी से पुरी तरह अस्तित्व मे  आकर पत्रकारों के हितों के संवर्धन मे ,उनके उत्पीड़न सम्बन्धी मामलो मे कङा कदम उठाने लगेगा। संगठन का उद्भव पत्रकार उत्पीड़न के आन्दोलन की कोख से ही हुआ है इसलिये पत्रकार हितो पर कोई समझौता नही किया जायेगा। साथ ही टीमो को यह भी निर्देश दिये गये है कि हर कीमत पर प्रदेशाध्यक्ष उसी को पदाधिकारी बनाये जो जुझारु एवं पत्रकार हितो के लिए संघर्ष करने का साहस रखता हो। यदि किन्ही कारणो से किसी ऐसे पदाधिकारी को पद पर चयन कर दिया हो जो शिथिल हो उसे तत्काल हटाकर किसी जुझारु को पदास्थापित कर दें। शिथिल लोगो के लिए संगठन मे किसी कीमत पदाधिकारी नही बनाया जाना चाहिये। राष्ट्रीय स्तर पर सभी पदाधिकारियों के कार्यों पर मानीटरिंग  हर पल की जा रही है इसलिए इस मामले मे कोई कोताही बर्दास्त नही की जायेगी और शिथिलता के लिए सीधे तौर पर प्रदेशाध्यक्ष ही जिम्मेदार व जबाबदेह होंगे। शीघ्र ही सुखद परिणाम हम सभी के सामने होंगे।*
*सहयोग के लिए सभी साथियो को ससम्मान अभिनंदन है।*

*आप सभी को मंगल कामनायें।*

*घनश्याम प्रसाद सागर*
*राष्ट्रीय अध्यक्ष*
*अखिल भारतीय सर्वहितकारी महासंघ,भारत*
*दूरभाष 9450070381,9005523319,9532313923,8808478878,9453013386*

आक्रोश4मीडिया इंडिया का no1 मिडिया पोर्टल है सिर्फ पत्रकार बन्धुओ के सहयोग से ही चल रहा है aakrosh4media.com हम व् हमारी आक्रोश की पूरी टीम आपकी राय और सुझावों की कद्र करती हैं। अतः आप अपनी राय, शिकायत , सुझाव और ख़बरें हमेंThis email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.  पर भेज सकते हैं या 9358606998 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। आक्रोश की आईडी है https://www.facebook.com/Aakrosh4media-608693262635672/ या आप ट्वीटर आईडी @aakrosh4media24 पर भी फॉलो कर सकते है