aakrosh4media तक अपनी खबरे व् शिकायत पहुंचाने के लिए aakrosh4media2016@gmail.com पर मेल करें आप आक्रोश के सम्पादक संजय कश्यप को अपनी खबरे व् शिकायत WhatsApp भी कर सकते है WhatsApp NO है 9897606998, 9411111862, 7417560778

झारखण्ड

प्रभातखबर प्रबंधन और कर्मचारियों में हुआ मजीठिया को लेकर समझौता

प्रभातखबर प्रबंधन और कर्मचारियों में हुआ मजीठिया को लेकर समझौता, सुप्रीमकोर्ट से लिया मुकदमा वापस 
झारखंड और बिहार के प्रमुख समाचार पत्र प्रभातखबर के कुछ कर्मचारियों द्वारा माननीय सुप्रीमकोर्ट में लगाये गये अखबार प्रबंधन के खिलाफ अवमानना मामले को सुप्रीमकोर्ट से वापस ले लिया गया। बताते हैं कि प्रभातखबर प्रबंधन और कर्मचारियों के बीच समझौैता हुआ है जिसके बाद कर्मचारियों ने अपना मामला सुप्रीमकोर्ट से वापस ले लिया है। आगे पढ़े.......... 


प्रभातखबर के कमल कुमार गोयनका के खिलाफ इसी समाचार पत्र के वरिष्ठ समाचार संपादक सत्यप्रकाश चौधरी और इसी अखबार के ७ कर्मचारियों ने माननीय सुप्रीमकोर्ट में केस नंबर १०८ के तहत जाने माने एडवोकेट परमानंद पांडे के जरिये अवमानना का केस लगाया था। इस केस के लगाने के बाद प्रबंधन के हाथ पैर फुल गये और पहले कर्मचारियों में किसी का सिलीगुड़ी तो किसी का अन्यत्र स्थानांतरण किया गया। यहीं नहीं कई कर्मचारियों को बाहर का रास्ता भी दिखा दिया गया था । आगे पढ़े.......... 


अब जबकि अवमानना के  मामले की सुनवाई पुरी हो गयी है और इस पर सुप्रीमकोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है प्रबंधन ने अपने आपको बचाने के लिये इन सात कर्मचारियों से समझौता कर लिया और बकायदे इसकी जानकारी माननीय सुप्रीमकोर्ट को भी दे दी है।  सुप्रीमकोर्ट में प्रभातखबर के कर्मचारियों के एडवोकेट परमानंद पांडे ने भी इस खबर की पुष्टी की है और कहा है कि कर्मचारियों को प्रबंधन ने समझौता का आफर दिया था। जिसे कर्मचारियों ने स्वीकार किया और यह समझौता होने के बाद  प्रभातखबर के सत्यप्रकाश चौधरी वर्सेज कमल कुमार गोयनका मामले को माननीय सुप्रीमकोर्ट से वापस ले लिया गया । आगे पढ़े.......... 


इस मामले में प्रभातखबर के सत्यप्रकाश चौधरी ने यह तो स्वीकार किया कि उन्होने और उनके साथियों ने सुप्रीमकोर्ट से अपना केस वापस ले लिया है मगर यह नहीं बताया कि प्रभातखबर प्रबंधन और कर्मचारियों के बीच क्या समझौता हुआ है। हालांकि सूत्रों का दावा है कि प्रभातखबर के इन कर्मचारियों को प्रबंधन ने कोई खाश लाभ नहीं दिया है। सत्य प्रकाश चौधरी ने कहा कि उन्होने अपना पक्ष फेसबुक पर लिखा है। 
                                                                                                                (शशिकांत सिंह पत्रकार और आरटीआई एक्सपर्ट) 

आक्रोश4मीडिया इंडिया का no1 मिडिया पोर्टल है सिर्फ पत्रकार बन्धुओ के सहयोग से ही चल रहा है aakrosh4media.com हम व् हमारी आक्रोश की पूरी टीम आपकी राय और सुझावों की कद्र करती हैं। अतः आप अपनी राय, शिकायत , सुझाव और ख़बरें हमें This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.  पर भेज सकते हैं या 9358606998 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। आक्रोश की आईडी है https://www.facebook.com/Aakrosh4media-608693262635672/ या आप ट्वीटर आईडी @aakrosh4media24 पर भी फॉलो कर सकते है