aakrosh4media तक अपनी खबरे व् शिकायत पहुंचाने के लिए aakrosh4media2016@gmail.com पर मेल करें आप आक्रोश के सम्पादक संजय कश्यप को अपनी खबरे व् शिकायत WhatsApp भी कर सकते है WhatsApp NO है 9897606998, 9411111862, 7417560778

हरयाणा

हरियाणा सरकार राज्य में कार्य कर रहे पत्रकारों की कैपेसिटी बिल्डिंग करने के लिए एक नीति बनाएगी

चण्डीगढ़। हरियाणा सरकार राज्य में कार्य कर रहे पत्रकारों की कैपेसिटी बिल्डिंग करने के लिए एक नीति बनाएगी, जिसके तहत पत्रकारों को दूसरे राज्य में ले जाकर अध्ययन करवाया जाएगा।  इसके अलावा, सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग का कार्यालय ‘सूचना भवन’ के नाम से एक एकड़ भूमि पर सैक्टर -3 पंचकुला में बनाया जाएगा जिस पर लगभग 9 करोड़ 37 लाख रुपये खर्च किये जायेंगे।
यह जानकारी आज यहां हरियाणा की सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग की मंत्री कविता जैन की अध्यक्षता में आयोजित संवाद  की 10वीं गवॢनंग बॉडी की बैठक में दी गई। इस बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव एवं सूचना, जनसंपर्क  एवं भाषा विभाग के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर और मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार  अमित आर्य भी उपस्थित थे। 
बैठक में सूचना ,जनसंपर्क  एवं भाषा मंत्री श्रीमती कविता जैन ने अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि वे पत्रकारों की क्षमता में बढोतरी के लिए एक नीति तैयार करें ताकि उन्हें क्षमतावान व सजग पत्रकार और समाज का प्रहरी बनाया जा सकें। 
बैठक में श्रीमती जैन ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे संवाद द्वारा प्रकाशित की जाने वाली पत्रिकाओं  के लिए लेखों हेतु वेबपोर्टल भी तैयार करें, जिस पर प्रदेश के अलावा देश एवं विदेशों के लेखक भी अपने लेखों को पोस्ट कर सकें, इस बेवपोर्टल पर पोस्ट किए गए सबसे ज्यादा पसंद किये गये लेखों का प्रकाशन हिन्दी, पंजाबी एवं उर्दू भाषाओं में किया जाएगा। इसके अलावा ,संवाद पत्रिका में सभी विभागों के विशेष प्रकाशन प्रकाशित करने के लिए एक कलैंडर तैयार करने तथा संवाद में कार्यरत कर्मचारियों के लिए सांझा आधार पर जीवन बीमा तथा कैशलैस मेडिकलेम योजना तैयार करने के भी निर्देश दिये।
बैठक में बताया गया कि सूचना, जनसंपर्क  एवं भाषा विभाग में उद्यम संसाधन योजना को क्रियान्वित किया जायेगा जिसके तहत ई-टेडरिंग, कलासिफाईड विज्ञापन, मान्यता प्रदान करने तथा प्रेस विज्ञप्तियों का वेबपोर्टल के माध्यम से प्रबंधन किया जायेगा। 
इस अवसर पर सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के निदेशक टीएल सत्यप्रकाश, मौलिक  शिक्षा विभाग की निदेशक गरिमा मित्तल, सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के संयुक्त निदेशक सुधांशु गौतम सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
आक्रोश4मीडिया इंडिया का no1 मिडिया पोर्टल है सिर्फ पत्रकार बन्धुओ के सहयोग से ही चल रहा है aakrosh4media.com हम व् हमारी आक्रोश की पूरी टीम आपकी राय और सुझावों की कद्र करती हैं। अतः आप अपनी राय, शिकायत , सुझाव और ख़बरें हमेंThis email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.  पर भेज सकते हैं या 9358606998 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। आक्रोश की आईडी है https://www.facebook.com/Aakrosh4media-608693262635672/ या आप ट्वीटर आईडी @aakrosh4media24 पर भी फॉलो कर सकते है

हरियाणा पत्रकार संघ के अध्यक्ष केबी पंडित ने पत्रकारों की एकजुटता के लिए दी बधाई

करनाल। कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में मीडियाकर्मियों और डॉक्टरों के बीच चल रहा विवाद शनिवार को घंटों चली बातचीत के बाद सौहार्दपूर्ण माहौल में निपट गया। डॉक्टरों ने चार मीडियाकर्मियों के कैमरे तोडऩे और हाथापाई के लिए पत्रकारों के बीच खेद जताया और भविष्य में ऐसी पुनर्रावृति ना हो, इसका आश्वासन दिया। हरियाणा पत्रकार संघ के अध्यक्ष केबी पंडित की अगुवाई में पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में घंटों चली बैठक में लंबी जद्दोजहद के बाद यह मामला सकारात्मक ढंग से निपट गया। पत्रकारों में इस बात को लेकर रोष था कि पत्रकारों के साथ मारपीट भी हुई और उनके कैमरे भी तोड़ दिए गए लेकिन कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज प्रशासन की चुप्पी के कारण पत्रकारों में गुस्सा भडक़ गया था। स्थानीय पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में पत्रकारों की हुई बैठक में अधिकांश पत्रकारों की राय थी कि डॉक्टरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो। कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज के निदेशक डॉक्टर सुरेंद्र कश्यप ने मेडिकल कॉलेज प्रशासन की ओर से पत्रकारों से क्षमा याचना की और कैमरों की भरपाई करने का आश्वासन भी दिया लेकिन पत्रकार मारपीट व कैमरा तोडऩे वाले डॉक्टरों से माफी मांगने की मांग पर अड़ गए। आखिर डॉक्टरों को भी पत्रकारों की बैठक में आना पड़ा और अपने किए पर क्षमा याचना की। बाद में मारपीट करने वाले डॉक्टरों और पीडि़त मीडिया फोटोग्राफरों ने गले मिलकर गिला शिकवा दूर किया। हरियाणा पत्रकार संघ के अध्यक्ष केबी पंडित ने एकजुटता के लिए पत्रकारों को बधाई दी और बातचीत के सकारात्मक परिणाम निकलने पर संतोष व्यक्त किया। बैठक में भाजपा के जिलाध्यक्ष जगमोहन आनंद, सीनियर डिप्टी मेयर कृष्ण गर्ग, डॉयरेक्टर डा. सुरेंद्र कश्यप, डा. पीयूष, डीएसपी शंकुतला, सिविल थाने के एसएचओ मोहनलाल भी उपस्थित रहे। बैठक में करनाल प्रेस क्लब के अध्यक्ष एमएस निर्मल ने भी पत्रकारों के हित की कई बार बात उठाई। हरियाणा पत्रकार संघ के जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र खुराना सहित कई वरिष्ठ पत्रकारों ने कई मुद्दों पर अपनी तीखी प्रतिक्रियाएं दी। मौके पर वरिष्ठ पत्रकार संदीप साहिल, देवेंद्र गांधी, प्रवीण अरोड़ा, नीरज मोहन, सुशील भार्गव, डा. कके संधू, सोमदत्त कौशिक, रमेश पाल, विकास सुखीजा, चमनलाल, रविंद्र, शीशपाल राणा, कमल मिढ्ढा, कमाल खान, आईएमए अध्यक्ष शैलेंद्र जैन , अनिता, अनिल भंडारी, गुरमीत भिंडर, अनिल लांबा, यशपाल कादियान, नीटू मान, रतनमान सहित 50 से अधिक पत्रकार मौजूद रहे। गौरतलब है कि शुक्रवार को कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में एक मरीज व डॉक्टर के बीच हुई मारपीट और बाद में ग्रामीणों द्वारा शीशे तोडऩे की घटना की कवरेज के लिए गए मीडियाकर्मियों के साथ डॉक्टरों ने दुव्र्यवहार किया, इस दौरान कवरेज पर गए चार मीडियाकर्मियों के कैमरे व मोबाइल तोड़ दिए गए। इनमे मुख्य रूप से दैनिक भास्कर के सीनियर फोटोग्राफर चमनलाल, चढ़दी कलां के फोटोग्राफर रविंद्र, कैमरामैन शैंकी, और एबीपी न्यूज के अमित शामिल हैं।

करनाल से एक मीडिया कर्मी के द्वारा आक्रोश को भेजे गए मेल के आधार पर

आक्रोश4मीडिया इंडिया का no1 मिडिया पोर्टल है सिर्फ पत्रकार बन्धुओ के सहयोग से ही चल रहा है aakrosh4media.com हम व् हमारी आक्रोश की पूरी टीम आपकी राय और सुझावों की कद्र करती हैं। अतः आप अपनी राय, शिकायत , सुझाव और ख़बरें हमें This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it. पर भेज सकते हैं या 9358606998 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। आक्रोश की आईडी है https://www.facebook.com/Aakrosh4media-608693262635672/ या आप ट्वीटर आईडी @aakrosh4media24 पर भी फॉलो कर सकते है

डाक्टरों ने खबर कवरेज कर रहे पत्रकारों के साथ की मारपीट कैमरे भी तोड़े

करनाल, 29 जुलाई। कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज के डाक्टरों की गुंदागर्दी का एक सनसनी खेज मामला प्रकाश में आया है। बताया जा रहा है कि यहां के कुछ डाक्टरों ने पहले एक मरीज को जमकर धुन्ना और इस दौरान कवरेज करने आए कुछ पत्रकारों के साथ भी मारपीट कर उनके कैमरे भी तौड़ दिए। देखते ही देखते मामला इतना बढ़ गया कि समाचार लिखे जाने तक दोनों पक्षों ने आरोपी डाक्टरों के खिलाफ पुलिस में शिकायत देकर मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। हालांकि इस दौरान डाक्टरों के एक पक्ष ने पत्रकारों के साथ मीटिंग करने का भी प्रयास किया, लेकिन पत्रकार तो पहुंच गए, परंतु डाक्टरों मीटिंग से गायब हो गए। जिस लेकर पत्रकारों में गहरा रोष पन्न गया और पीडि़त पत्रकारों ने भी इस मामले की शिकायत पुलिस को कर दी है। समाचार लिखे जाने तक थाना सिविल लाईन के प्रभारी मोहन लाल ने शिकायतें मिलने की पुष्टि करते हुए बताया कि पुलिस ने मामले की जांच आंरभ कर दी है, लेकिन अभी तक किसी के खिलाफ कोई मामला दर्ज नही किया है। इस प्रकरण की जानकारी देते हुए शामगढ़ निवासी ओमप्रकाश ने बताया कि उसका भाई कर्म सिंह आज सुबह पेट में दर्द होने पर कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में दवाई लेने के लिए आया था। उन्होंने बताया कि जब वह डाक्टरों को दिखाने गया तो पहले डाक्टर ने उसे पर्ची लाने के लिए भेज दिया और जब वह पर्ची बनवाकर आया तो डाक्टर ने उसका उपचार करने की बजाए अमरजैंसी में भेज दिया। आरोप है कि जब वे अमरजैंसी में गया तो वहां के डाक्टरों ने बतमीजी करते हुए उसके साथ अभद्र बरताव किया और जब मरीज ने इस पर अपत्ति जताई तो डाक्टरों ने उसकी जमकर धुनाई लगा दी। इधर जैसे ही इस घटना की सूचना कुछ पत्रकारों को मिली तो वे इस घटना को कवर करने के लिए मौके पर पहुंच गए, लेकिन आरोप है कि जब पत्रकार व छायाकार इसकी कवरेज कर रहे थे, तभी डाक्टरों ने उन पर भी हमला बोल दिया और उनके साथ मारपीट करते हुए उनके कैमरे तक तौड़ दिए। इधर जैसे ही पत्रकारों व छायाकारों पर हमले की सूचना मिली तो जिले के तकरीबन सभी पत्रकार मौके पर पहुंच गए और मामला बिगड़ गया। हालांकि पत्रकारों के साथ मेडिकल कॉलेज के आलाधिकारियों ने पंचायत करने का भी प्रयास किया। पत्रकार तो इस पंचायत में पहुंच गए, लेकिन आरोपी डाक्टर नही आए। जिन का काफी इंतजार करने के बाद पत्रकार भी वहां से लौटने के लिए मजबूर हो गए। इधर पीडि़त पत्रकारों व छायाकारों ने इस संबंध में डीएसपी को एक शिकायत देकर डाक्टरों के खिलाफ कानून कार्यवाही करने की मांग की है। पत्रकारों ने इस घटना की कडे शब्दों में निंदा की है और मांग की है कि मेडिकल कॉलेज में लेगे सीसीटीवी कैमरे की फुटे चैक की जाए और दोषी डाक्टरों के खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया जाए। इस घटना को लेकर पूरे जिले के पत्रकार लामबंद हो गए है और जल्द की मेडिकल कॉलेज के डाक्टरों के खिलाफ रणनीति बना रहे है। इसके अलावा पीडि़त मरीज ने भी डाक्टरों के खिलाफ मामला दर्ज करने की शिकायत दी है। इधर थाना सिविल लाईन के प्रभारी मोहन लाल ने बताया  कि उन्हें शिकायतें मिली है और उन्होंने इन शिकायतों के आधार पर मामलों की जांच आंरभ कर दी है। ज्ञात रहे कि आरोपी डाक्टरों ने दो दैनिक समचार पत्र के छायाकारों व पत्रकार के साथ मारपीट की है और उनके कैमरे भी तौड़े।

करनाल से एक मीडिया कर्मी के द्वारा आक्रोश को भेजे गए मेल के आधार पर 

आक्रोश4मीडिया इंडिया का no1 मिडिया पोर्टल है सिर्फ पत्रकार बन्धुओ के सहयोग से ही चल रहा है aakrosh4media.com हम व् हमारी आक्रोश की पूरी टीम आपकी राय और सुझावों की कद्र करती हैं। अतः आप अपनी राय, शिकायत , सुझाव और ख़बरें हमें This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it. पर भेज सकते हैं या 9358606998 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। आक्रोश की आईडी है https://www.facebook.com/Aakrosh4media-608693262635672/ या आप ट्वीटर आईडी @aakrosh4media24 पर भी फॉलो कर सकते है 

मीडिया को देखकर कैसे भागे नशे में धुत कर्मचारी (देखे पूरा विडिओ)

रेवाड़ी- शाम 5 बजे के बाद मयखाने में तब्दील हो जाते हैं सरकारी कार्यालय देखिए अधिकारियों ओर कर्मचारियों किस तरह से छलकाते है जाम मीडिया को देखकर कैसे भागे कर्मचारी, हाथ जोड़ बख्शने की दुहाई ऐसे कैसे होगा सरकारी दफ्तरों में काम

रेवाड़ी, शाम होते ही अधिकांश सरकारी कार्यालयों में जाम झलकाने का सिलसिला शुरू हो जाता है। अधिकारी हो या कर्मचारी अपनी कुर्सियों पर बैठकर खुल्ले आम जाम छलकाते है। इन्हें रोकने टोकने वाला कोई भी नही है। 

जैसे ही घड़ी शाम के 5 बजाती है बैसे ही जिला सचिवालय के अधिकांश कार्यालयों में जाम छलकाने का कार्य शुरू हो जाते है। आइये हम आपको जिला सचिवालय में दूसरे तल पर सिथित चुनाव कार्यालय में लेकर चलते है। यह तहसीलदार का कार्यालय है जहां इस कार्यालय के अधिकांश अधिकारी व कर्मचारी मैज पर रखकर जाम छलका रहे है। जैसे ही मीडिया के कैमरे नजर आए ये अपने चेहरे छुपाने लगे। और फिर भागने लगे इनको नशे में भागता देख अन्य कार्यालयों में जाम छलकाने का दौर समाप्त हो गया। इसके बाद हम अन्य कार्यालयों में भी गए वहां भी ऐसा ही नजारा देखने को मिला।

नशेड़ी अधिकारी ने मीडिया के सामने हाथ जोड़कर घुस देने की भी नाकाम कोशिश की। कुछ कर्मचारी अपना चेहरा छुपाने लगे।

(देखे पूरा विडिओ)

 

 

(आक्रोश को भेजे गए रोहतक से देवेन्द्र शर्मा की रिपोर्ट के आधार पर) 

आक्रोश4मीडिया इंडिया का no1 मिडिया पोर्टल है सिर्फ पत्रकार बन्धुओ के सहयोग से ही चल रहा है aakrosh4media.com हम व् हमारी आक्रोश की पूरी टीम आपकी राय और सुझावों की कद्र करती हैं। अतः आप अपनी राय, शिकायत , सुझाव और ख़बरें हमें This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it. पर भेज सकते हैं या 9358606998 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। आक्रोश की आईडी है

https://www.facebook.com/aakroshmedia.aakroshmedia / या आप ट्वीटर आईडी @aakrosh4media24 पर भी फॉलो कर सकते है

इस महिला एंकर ने घुघट ओढ़कर किया चैनल का लाइव शो (लिंक पर क्लिक करके देखे पूरी विडिओ) 

दर्शको आपने कई तरह के न्यूज़ चैनल में, कई प्रकार के, न्यूज़ बुलेटिन व् डिबेट शो, बड़ी खबरे, करते हुए कई महिला एंकर को देखा होगा क्या कभी किसी ऐसी एंकर को देखा है जो मुँह पर घुंगट डाल कर एंकर पढ़ती है. अगर देखना चाहेंगे तो अपने टीवी पर हरियाणा का न्यूज़ चैनल STV HARYANA NEWS लगाकर देख सकते है की किस तरह ये महिला एंकर घुंघट ओढ़कर किस तरह लाइव न्यूज़ दे रही है ये महिला कोई और नहीं बल्कि हरियाणा के इस रीजनल न्यूज चैनल की एग्जीक्यूटिव एडिटर और एंकर प्रतिमा दत्ता है अब आपको बताते है इसकी क्या वजह हे जिससे इस महिला एंकर को घूंघट डालने पर मजबूर कर दिया है ये वजह कोई और नहीं बल्कि हरियाणा सरकार की वो हरकत है जिसमे महिलाओ की आन- बान और शान को बताया जा रहा है हरियाणा सरकार की एक पत्रिका जिसका नाम कृषि संवाद है इसके पेज पर एक घुंगट वाली महिला की तस्वीर छपी है एक महिला अपने सर पर गाय का चारा लेकर जाती दिख रही है और एक लाइन में लिखा गया है की घुंगट की आन-बान, म्हारे हरियाणा की पहचान जिसको लेकर हरियाणा सरकार विवादों में आ गयी है जहां हरियाणा की बहु बेटियों ने घुंघट से बाहर निकलकर हरियाणा के साथ साथ देश का नाम रोशन कर दिखाया है ये वही हरियाणा की सरकार है जो अब भी हरियाणा की पहचान घूंघट को बता रही है हरियाणा के ऊपर अभी हाल ही में एक फिल्म आई थी "दंगल" जिसमे हरियाणा की ही दो लड़किया थी "गीता और बबिता" वो एक ऐसी मिशाल है जिसने हरियाणा का नाम ही नहीं पुरे भारत का नाम देश और विदेश में जाकर रोशन किया था और तो और गोल्ड मैडल तक जीतकर लाई थी ये दोनों लड़किया हरियाणा सरकार की इस घटिया सोच के खिलाफ एंकर प्रतिभा दत्ता ने महिलाओ के हित में घूंघट में बैठ कर लाइव डिबेट का शो करके सरकार की आँख खोलने का काम किया है 

                                                                                    xxxx

इस लिंक पर क्लिक करके देखे पूरी विडिओ

आक्रोश4मीडिया इंडिया का no1 मिडिया पोर्टल है सिर्फ पत्रकार बन्धुओ के सहयोग से ही चल रहा है aakrosh4media.com हम व् हमारी आक्रोश की पूरी टीम आपकी राय और सुझावों की कद्र करती हैं। अतः आप अपनी राय, शिकायत , सुझाव और ख़बरें हमें This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it. पर भेज सकते हैं या 9358606998 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। आक्रोश की आईडी है https://www.facebook.com/Aakrosh4media-608693262635672/ या आप ट्वीटर आईडी @aakrosh4media24 पर भी फॉलो कर सकते है