* आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें *

फर्जी पत्रकारों की खैर नहीं, कसेगा शिंकजा

09-01-2018 17:04:16 पब्लिश - एडमिन


नई दिल्ली। फर्जी पत्रकारों पर शिंकजा कसने के लिए केन्द्र सरकार शीघ्र ही कठोर कदम उठाने जा रही है। पत्रकारों से वार्ता करते हुए सूचनाप्रसारण राज्यमंत्री एवं पूर्व ओलम्पियन राज्यवर्धन सिंह राठौर ने बताया कि देश के कोने कोने में फर्जी प्रेस आईडी लेकर घूम रहे लोगांे की जांच की जायेगी और दोषी पाये जाने पर कार्रवाई होगी।

सूचना प्रसारण राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा कि कछ गलत लोगों के कारण अच्छे और इमानदार पत्रकारों की छवि भी खराब होने के साथ साथ उन्हें काम करने में कठिनाई हो रही है जिसे दूर करने के लिए केन्द्र सरकार सख्त कदम उठाने जा रही है। सूचना प्रसारण राज्यमंत्री ने कहा कि पैसे लेकर फर्जी प्रेस कार्ड जारी करने वालो पर लगाम कसी जायेगी। राज्यमंत्री ने फर्जी आईडी के जरिये ब्लैकमेलिंग के धंधे पर चिन्ता व्यक्त करते हुए कहा कि निष्पक्ष पत्रकारिता की गरिमा कायम रखने के लिए फर्जी पत्रकारों पर लगाम कसना जरूरी है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार के आरएनआई से पंजीकृत समाचार पत्र/पत्रिका या टी.वी. तथा रेडियो सूचना प्रसारण मंत्रालय से रजिस्टर्ड हो वही संवाददाता की नियुक्ति कर आईडी जारी कर सकता है। देश में चल रहे न्यूज पोर्टल के बारे में पूछे गये सवालों के जवाब में राजयमंत्री श्री राठौर ने बताया कि सूचना प्रसारण मंत्रालय से न्यूज पोर्टल के पंजीकरण का कोई प्रावधान नहीं है। कोई न्यू चैनल एवं केवल डिश टीवी पर चलने वाले न्यूज चैनलों को संवाददाता की नियुक्ति और परिचय पत्र जारी करने का अधिकार नहीं है। अगर कोई ऐसा करता है तो उसके खिलाफ कदम उठाया जायेगा। उन्होंने कहा कि न्यूज पोर्टल संचालन पर कोई रोक नहीं है किन्तु यह सरकारी सहायता प्राप्त नहीं कर सकते और न आईडी जारी कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि पत्रकार संगठनों को भी मान्यता नहीं है और वह भी पत्रकारों को परिचय पत्र जारी नहीं कर सकते।

(ऋषिकेश के वरिष्ठ पत्रकार बसंत कुमार की रिपोर्ट के आधार पर) 

अपनी राय नीचे दिये हुए कमेंट बॉक्स में लिखें !