* आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें *

फर्जी खबरों के खिलाफ कमर कसी मोदी सरकार ने

14-01-2018 12:23:29 पब्लिश - एडमिन


केन्द्र की मोदी सरकार ने मीडिया द्वारा तथ्यविहीन और भ्रामक खबरों से जनता को सावधान करने के लिए अनोखा तरीका अपनायाहै जिसके तहत मंत्री प्रकाशित खबरों का उल्लेख करते हुए खबर की सच्चाई को स्वयं बयान कर रहे हैं। केन्द्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने एक पत्रिका में दो हजार के नोटों की छपाई बंद होने की संभावना दर्शाने वाली खबर को पाठकों के समक्ष रखकर लोगों को बताया कि यह खबर पूरी तरह भ्रामक और सत्य से परे हैं। न दो हजार के नोट की छपाई बंद होने की कोई संभावना है और न पांच सौ और दो सौ के नोट पर गाज गिराये जाने की संभावना है।

मीडिया और सोशल मीडिया में परोसी जा रही खबरों से त्रस्त केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ने अब भ्रामक खबरों पर सोशल मीडिया में निशाना बनाने की मुहिम छेड़ दी है। सरकार इस बात से परेशान है कि सोशल मीडिया पर आने वाली खबरों पर जन सामान्य भरोसा कर लेता है जिससे सरकार की छवि पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। अब सरकार ने ऐसी खबरों को जारी करने वाले मीडिया संस्थानों का नाम देते हुए टवीट करना शुरू कर दिया है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने राजस्थान पत्रिका की उस खबर को निशाना बनाया है जिसमंें नोटबंदी को लेकर खबर दी गयी कि सरकार दो हजार के नोट की छपाई बंद करने जा रही है। पत्रिका ने पांच सौ और दो सौ के नोट पर भी गाज गिरने की संभावना व्यक्त की। प्रत्येक ग्राफिक्स प्लेट पर हैडर में लोगो को झूठे समाचार से सावधान रहने की नसीहत दी गई है। नीचे लिखा कि ‘झूठी खबरों से लड़े और शेयर करे। हर प्लेट के दो हिस्से है जिनमें एक के उपर लिखा हैः-‘‘झूठ’’ और दूसरी के उपर लिखा हैः-‘‘सच’’। पहले हिस्से में राजस्थान पत्रिका की वेब डिवीजन का नाम देते हुए ‘दो हजार के नोट की छपाई बंद, पांच और दो सौ के नोट परभी गिरेगी गाज’। इसके नीचे के हिस्से पर ‘‘सच’’ हैडर के साथ पीयूष गोयल ने लिखा है अरूण जेटली के चित्र सहित बयान है कि ’’ऐसी खबरें फैलाई जा रही है कि दो हजार का नोट वापस लिया जा रहा है, जो बिल्कुल गलत है।ऐसी चीजों पर विश्वास न करे।’’ दूसरी खबर में पहले हिस्से में वित मंत्रालय से सम्बन्धित खबर हैः-Soon, pay for each and every transaction, even for passbook updates, address changes**   इसी खबर के दूसरे हिस्से में वित्त मंत्रालय के सचिव राजीव कुमार के फोटो सहित बयान लिखा है कि ‘‘सरकार का 20 जनवरी से निशुल्क सेवाओं को बंद करने का बैंकों का कोई इरादा नहीं है। अफवाहों पर ध्यान दे।’’

रोचक और आश्चर्यजनक बात यह है कि खुद को राष्ट्रवादी चैनल साबित करने में जुटे जी न्यूज चैनल की खबर पर मोदी सरकार ने निशाना साधा है। जी न्यूज की हिन्दी वेबसाइट की खबर ‘चेक से लेन-देन बंद करेगी सरकार।’ को झूठ बताया गया है। वित्त मंत्री अरूण जेटली के फोटो सहित बयान लिखा गया है कि बैंकों का चेक बुक सुविधा बंद करने का कोई प्रस्ताव नहीं है।’ दिलचस्प बात यह है कि मोदी सरकार विरोधी चैनल के रूप में पहचान रखने वाले एनडीटीवी की खबर को प्रदर्शित करते हुए चैनल को सच्ची खबर दिखाने वाला बताया गया है। झूठ वाले सेक्शन में पत्रिका में प्रकाशित खबरः-‘‘बैंकों में जमा आपका धन कभी भी हो सकता है जब्त, एफआरडीआई बिल में बैंकों का अधिकार दे रही सरकार।’’ सच के सैक्शन में एनडीटीवी की खबर दर्शायी गयी है किः-‘‘एफआरडीआई बिलः अरूण जेटली ने कहा कि बैंकों में रखे जनता के पैसे पर कोई आंच नहीं आयेगी।’’ हालांकि इस किस्म के ग्राफिक्स जारी करने वाली एजेंसी का नाम ना तो उन पर लिखा है और न रेलमंत्री पीयूष गोयल ने उजागर किया है। 

माना जा रहा है कि केन्द्र की मोदी सरकार ने अब अपने खिलाफ जा रही फर्जी खबरों की मुहिम के खिलाफ कमर कसते हुए जवाब देने का इरादा कर लिया है। सरकार के सामने 2019 की चिन्ता जो है। 

---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें 

अपनी राय नीचे दिये हुए कमेंट बॉक्स में लिखें !