* आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें *

दूरदर्शन के कार्यक्रमों से महरूम हुए ग्रामीण दर्शक, 18 केन्द्रों से प्रसारण बंद

17-01-2018 11:51:08 पब्लिश - एडमिन


तकनीकी क्षेत्र में निजी चैनलों से पिछड़ जाने के चलते दूरदर्शन ने डेढ़ दर्जन स्थानों पर चल रहे पारम्परिक एनालॉग ट्रांसमिशनको बंद कर दिया है। सूचना प्रसारण मंत्रालय के आदेशों के बाद दूरदर्शन के यूपी के दूरदर्शन केन्द्र से प्रसारण बंद होने के बाद लाखों ग्रामीण दर्शक खबरें और अन्य मनोरंजक कार्यक्रम देखने से महरूम हो गये है। भविष्य में दूरदर्शक सेट टाप बाक्स के जरिये ही दूरदर्शन के कार्यक्रम देख सकेंगे।

शुक्रवार को शुरू हुई एनॉलाग ट्रांसमिशन सेवा बंद होने की प्रक्रिया शनिवार को पूरी हो गयी। बताया जाता है कि देश में सैटेलाइट क्रान्ति के बावजूद दूरदर्शनआज भी ग्रामीण भारत के दर्शकों के बीच बेताज बादशाह बना हुआ है लेकिन एनॉलाग ट्रांसमिशन सेवा बंद होने से गांवों में दर्शकों के घरों में रखे टीवी डिब्बा बनकर रह जायेेंगे। टाइम्स आफ इंडिया में छपी रिपोर्ट में लखनउ केन्द्र के एग्जिक्यूटिव के हवाले से कहा गया है कि कई स्थानों पर आधुनिक डिजिटल टेक्नालॉजी का आगाज नहीं हो सका है। सूचना प्रसारण मंत्रालय के फैसले के बाद ग्रामीण क्षेत्र के दर्शक अब मनोरजंक कार्यक्रम को तरस जायेंगे। उन्हें मनोरजंक कार्यक्रम और समाचार आदि देखने के लिए निजी क्षेत्र के चैनलों की ओर रूख करना पड़ेगा जहां उन्हें निश्चित धनराशि का भुगतान करना होगा।

ग्रामीण इलाकों में दूरदर्शन प्रसारण सेवा बंद होने केन्द्र सरकार स्वच्छ भारत मिशन जैसे लोकोपयोगी कार्यक्रमों को दूर दराज गांव तक प्रचारित नहीं कर पायेगी। सरकार अभी भी स्वच्छ भारत, ओडीएफ और परिवार नियोजन सहित अन्य स्वास्थ्य कार्यक्रमों के प्रचार प्रसार को दूरदर्शन पर ही निर्भर रहती है। उल्लेखनीय है कि 2014 में एनॉलाग सिस्टम को डिजिटल सिस्टम में तब्दील करने की योजना बनायी गयी थी जिसे 2017 तक पूरा होना था लेकिन सूचना प्रसारण मंत्रालय इस मोर्चे पर नाकाम हो गया जिस कारण एनॉलाग ट्रांसमिशन सेवा बंद करने को निर्णय लेने को मजबूर होना पड़ा।


आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है, सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें  

अपनी राय नीचे दिये हुए कमेंट बॉक्स में लिखें !