* आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें *

मधुबनी से पत्रकार को पीटा फैडरेशन के जिलाध्यक्ष 

23-01-2018 19:23:52 पब्लिश - एडमिन


मधुबनी के ‘लाइव आर्यावर्त’ के एडिटर रजनीश के झा ने इंडियन फेडरेशन आॅफ वर्किंग जर्नलिस्ट के अध्यक्ष को पत्रा लिखकर अपने साथ हुई मारपीट और गाली गलौच के सन्दर्भ मंे पत्र प्रेषित कर कार्रवाई की मांग की है।
घटना के बारे में उल्लेख करते हुए रजनीश लिखते हैं कि मधुबनी से फैडरेशन के जिलाध्यक्ष हेमन्त सिंह ने फेसबुक पर खुद को एक्युप्रेशर का डाक्टर होने की पोस्ट डाली थी। लोगों ने उन्हें बधाई दी। उन्होंने भी हेमन्त को बधाई देते हुए कहा था कि यह डिप्लोमा है और डिप्लोमा के आधार पर किसी को डाक्टरेट नही मिलता। उन्होंने हेमन्त सिंह से पोस्ट में सुधार की बात कहते हुए लिखा था कि उनकी इस पोस्ट के आधार पर पत्रकारिता कौम को शर्मिन्दगी का सामना करना पड़ेगा। रजनीश का आरोप है कि हेमन्त सिंह ने पोस्ट पर ही उन्हें गालियां दी। इसके बाद 20 जनवरी को खेलकूद विषय पर मीडियाकर्मियों की बैठक आहूत की गयी जिसमें वह भी शामिल थे। हेमन्त सिंह बैठक में आ गये और उनके साथ अभ्रदता करते हुए मारपीट की। रजनीश का आरोप है कि हेमन्त सिंह ने उन्हें बेहद गंदी गंदी गालियां दी और यहां तक कहा कि ‘अगर वह ब्राह्मण न होते तो मुंह में जूता कोंच के मार देता।’ रजनीश के कथनानुसार इस बीच पत्रकार मूकदर्शक बने खड़े रहे। कुछ पत्रकारों ने हेमन्त सिंह को पकडकर न रखा होता तो वह उन पर हमलाकर उन्हें मार देता।
रजनीश ने फेडरेशन के अध्यक्ष को लिखे पत्र में पीड़ा व्यक्त करते हुए लिखा है कि संगठन का जिलाध्यक्ष ऐसे व्यक्ति को बनाया गया है जो खबर तक नहीं लिख सकता, संगठन के लिए एक चिठठी तक नहीं लिख सकता मगर अपनी दबंगता के साथ गैर पत्रकारिता के हर कार्य को संगठन की आड में करता है। रजनीश ने इसे शर्मनाक बताया है। विवाद के बाद हेमन्त सिंह अपनी पोस्ट को हटा चुका है। रजनीश ने साक्ष्य के तौर पर प्रमाण पत्र की प्रति भेजकर स्पष्ट किया है कि हेमन्त सिंह के आईकार्ड में वैधता 2019 तक दर्ज है जबकि प्रमाण पत्र 2017 को निर्गत हुआ था। अतः स्पष्ट है कि डिप्लोमा फर्जी है।
रजनीश के झा ने साफ कर दिया है कि वह हेमन्त सिंह के व्यक्तिगत कार्यों और कृतित्व पर सवाल नहीं उठा रहे हैं और न वह हेमन्त सिंह को आरोपित करंेगे। उनका सवाल संगठन से उठेगा और उत्तर भी संगठन से उचित कार्यवाही के साथ अपेक्षित रखूंगा।


आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें

अपनी राय नीचे दिये हुए कमेंट बॉक्स में लिखें !