हरिद्धार के पत्रकार अरुण कश्यप व् उसके दो तथाकथित पत्रकारों की जमकर हुई कुटाई और थाने में हुआ मुकदमा दर्ज  

23-11-2017 19:27:33 पब्लिश - एडमिन


सूत्रों के हवाले से ख़बर, तीन तथाकथित पत्रकारों की पथरी क्षेत्र में पेड़ से बांधकर की गई सुताई, सुताई के बाद एक पत्रकार हुआ घायल, मिट्टी खुदान ठेकेदार से करने गए थे उगाही, ठेकेदार ने पथरी थाने में कराया मुकदमा दर्ज, ब्लैकमेलिंग की पुलिस ने लगाई धाराएं

धर्म नगरी हरिद्धार में तीन पत्रकारों को उगाही करना इतना महंगा पड़ गया की तीनो पत्रकारों को पेड़ से बांधकर पीटा गया और उसके बाद उक्त तीनो पत्रकारों को पीटते हुए थाने ले गए ये मामला हरिद्वार से सटे थाना पथरी गाँव का है बताया ये भी जा रहा है की तीनो पत्रकारों ने पहले भी 15000 रुपए लेकर मामले को दबा दिया था आपको बता दे की ज्वालापुर से सटे सराय में (द संडे पोस्ट साप्ताहिक समाचार पत्र) का पत्रकार अरुण कश्यप निवासी अजीतपुर  सुनील शर्मा निवासी हरिद्धार ऋषिकुल  व् इनका एक साथी नवाब निवासी पथरी को पता चला की कही पर मिटटी खुदाई का काम चल रहा है तो तीनो पत्रकारों ने सलाह बनाई और निशाना बनाने के लिए ठेकेदार मुसर्रफ अली के यहाँ जा धमके और अपनी पत्रकारिता का रोब झाड़ते हुए 10000 रुपए रोज देने की डिमांड करने जब मुशर्रफ अली ने कहा की हमारे पास हाईवे के काम के लिए मिटटी उठाने की जिलाधिकारी से अनुमति है तो तीनो पत्रकार मुशर्रफ अली को धमकाने लगे की या तो 10000 रुपए रोज दे दो नहीं तो तुम्हारे खिलाफ हम खबर दिखा देंगे इसके बाद ठेकेदार मुशर्रफ अली ने अपने लोगो बुलाकर इन तीनो पत्रकारों को बंधक बना लिया और मारपीट के बाद तीनो पत्रकारों को थाने पथरी के सुपुर्द कर दिया फिलहाल थाना इंचार्ज गजेंद्र बहुगुणा ने मुशर्रफ अली की तहरीर पर उक्त तीनो पत्रकारों के खिलाफ धारा 384 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है आपको बता दे की इनमे से दो पत्रकार नेशनलिस्ट यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट (NUJ) से जुड़े हुए है

(हरिद्धार से एक पत्रकार की रिपोर्ट के आधार पर)