* आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें *

डोगरी भाषा मंडराते खतरे से आगाह किया पदमा ने

22-02-2018 16:02:21 पब्लिश - एडमिन



नई दिल्ली। विश्व मातृ भाषा दिवस पर दिल्ली में आयोजित मुशायरे में पहुंची डोगरी भाषा की मशहूर कवि और लेखक पदमा सचदेवा ने कहा कि हम लोग जो भी भाषा बोलते हैं वही हमारी मातृ भाषा है और मातृभाषा मां की तरह होती है जिसकी सुरक्षा करना हमारी जिम्मेदारी है। पदमा सचदेवा ने मुशायरे का उदघाटन करते हुए नई पीढ़ी के रूझान पर चिन्ता व्यक्त करते हुए कहा कि अफसोस नई पीढ़ी अपनी मातृभाषा से बहुत दूर और उसके इस्तेमाल से अन्जान है। पदमा ने डोगरी के नामचीन कवि पन्त भाई की कविता का उल्लेख हुए कहा कि हमारी मातृभाषा डोगरी मां और हिन्दी हमारी दादी मां है। उन्होंने यह भी कहा कि वह डोगरी के बाद उर्दू का सबसे ज्यादा पसंद करती है। पदमा सचदेवा ने उर्दू की मिठास का जिक्र करते हुए कहा कि इस मिठास को भुलाया नहीं जा सकता।
 

अपनी राय नीचे दिये हुए कमेंट बॉक्स में लिखें !