* आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें *

बसपाः वोटों से खाली झोली नोटों से भरी

08-02-2018 18:46:07 पब्लिश - एडमिन


 

वोटों के मामले में पिछडी बसपा सुप्रीमो सुश्री मायावती की झोली नोटों से भर गयी है। करारी पराजय के संकटों से उबर रही बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख सुश्री मायावती इस बात से खुश हो सकती है कि दानदाताओं ने उनकी पार्टी को खुले दिन से चंदा दिया है। लोकसभा में कोई भी सीट लेने और विधानसभा में महज 19 सीटों पर सिमट जाने वाली बसपा की आय में वोटों की मंदी के बावजूद नोट मिलने में उछाल आया है। इलेक्शन वाॅच की रिपोर्ट से खुलासा हुआ कि बहुजन समाज पार्टी की कमाई में जबरदस्त बढ़ोतरी दर्ज की गयी है। सत्तारूढ़ भाजपा और विपक्षी दल कांग्रेस ने कोई ब्यौरा नहीं दिया है। वर्ष 2015-16 में भाजपा की आमदनी सर्वाधिक 570.86 करोडरुपये थी जबकि कांग्रेस 261.56 करोड़ रुपये की जुटा सकी थी। दोनों मुख्य दलों ने 2016-17 का कोई विवरण उपलब्ध नहीं कराया है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नोटबंदी के फैसले का सर्वाधिक मुखर विरोध करने वाली बसपा प्रमुख सुश्री मायावती के रूख को लेकर काफी सवाल उठे थे। कहा गया था कि नोटबंदी का सबसे ज्यादा नुकसान बसपा प्रमुख को ही हुआ है। इलेक्शन वाॅच की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक 2015-16 में बसपा की कमाई जहां 47.385 करोड रुपये थे वहीं 2016-17 में बसपा को जबरदस्त फायदा हुआ। बसपा की कुल आय 173.58 करोड़ हो गयी है। विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी को भरपूर चंदा मिला लेकिन मायावती ने मात्र 30 फीसदी यानि 51.83 करोड़ रूपये ही चुनाव में व्यय किये। इलेक्शन वाॅच की रिपोर्ट से साफ होता है कि नोटबंदी से बसपा बेअसर है। हालांकि दूसरी कददावर नेता पश्चिम बंगाल की सीएम सुश्री ममता बनर्जी सबसे ज्यादा नुकसान में है। उनकी आमदनी महज 6.39 करोड़ है जबकि 24.26 करोड रुपये व्यय हुए। वर्ष 2015-16 में तृणमूल कांग्रेस की आय 34.578 करोड़ थी।

इलेक्शन वाॅच की रिपोर्ट के मुताबिक सीपीएम कमाई के मामले में दूसरे पायदान पर रही। 2016-17 में इस वाम दल का कुल व्यय 94.056 करोड़ रुपये हुआ जबकि आमदनी 100.256 करोड है। एनसीपी तीसरे नम्बर पर है। महाराष्ट्र की राजनीति के दिग्गज नेता शरद पवार की एनसीपी की कुल आमदनी 17.235 करोड और खर्च 24.967 करोड़ रुपये हुआ।

अपनी राय नीचे दिये हुए कमेंट बॉक्स में लिखें !