लाउन्डपन का आख़िरी दिन

02-01-2018 21:11:51 पब्लिश - एडमिन


सदी तुम कल से वयस्क हो जाओगी। सदी के सहयात्रियों तुम भी बस आज और कर लो लाउन्डपन। 
कल से 2018 यानी 18वां वर्ष शुरु हो जायेगा। 18वां साल बालिग होने का होता है। संजीदगी पैदा करता है। पूरी परिपक्वता के साथ फूंक - फूंक कर क़दम रखना होता है।

राजनीतिज्ञों तुम भी होशियार हो जाओ। सदी के 17 साल तक खूब लाउन्डा बनाया तुमने। अब नफरत के बंटवारे या तुष्टिकरण की आंधी में धूल झोंक कर सत्ता नहीं हासिल कर सकोगे। 
2018 जनता को परिपक्व बनाने का संदेश लेकर आया है। इस उम्र में मोहब्बत की चलती है, नफरत की नहीं। सदी के शुरुआती सत्रह वर्षो में प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री बनने वाले- मनमोहन सिंह जी, नरेंद्र मोदी जी, आदित्य नाथ योगी जी, मायावती जी, अखिलेश यादव जी... आप सब सियासतदाओं, कान खोल कर सुन लीजिए! अब सदी और सदी के सहयात्री किसी समझदार एडल्ट की तरह किसी हवा में नहीं बहेंगे। नफरत और बंटवारे की राजनीति में अपना भविष्य खराब नहीं करेंगे। 
मुझे याद है, हमारे पेशे पत्रकारिता के क्षेत्र में भी बंटवारे के आधार पर पत्रकार संगठनों के चुनाव हुए। नतीजा तकलीफों से भरा रहा। आपसी एकता की कमी से पत्रकारों को पिछले कई वर्षों में तकलीफे उठानी पड़ी थी।

हेमंत तिवारी जी.. प्रांशु मिश्रा जी... आप भी पत्रकारों की सकारात्मक राजनीति की तरफ क़दम बढ़ाओ। नकारात्मकता और बंटवारे की राजनीति को पत्रकार अब नहीं स्वीकार करेंगे।

सदी के साथ हमारी अक्ल भी 18वें वर्ष में प्रवेश करने जा रही है। इस वर्ष नफरत और बंटवारा नहीं, मिलनसारी और मोहब्बत के फूल खिलना शुरू होते हैं।

HAPPY NEW YEAR 2018
- नवेद शिकोह (स्वामी नवेदानंद) 
8090180256

अपनी राय नीचे दिये हुए कमेंट बॉक्स में लिखें !