* आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें *

अवैध खनन का खुलासा करने वाले पत्रकार को मिली जेल

10-01-2019 15:58:44 पब्लिश - एडमिन



कौशांबी सत्ता की ताकत एक बार फिर देश में चौथे स्तंभ के नाम से संबोधित की जाने वाली पत्रकारिता पर भारी पड़ती दिखाई दिया जहां सराय अकिल थाना क्षेत्र में अवैध बालू खनन के मामलों को उजागर करने वाले पत्रकार को प्रशासन के षड्यंत्र के तहत जेल भेज दिया गया पुलिस ने पत्रकार के खिलाफ धारा 151 के तहत कार्रवाई किया जिसमें प्रशासन ने सुनियोजित तरीके से जमानत न उसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया जिले के सम्मानित लोगों ने प्रशासन की इस कदम की निंदा की है | गौरतलब हो कि सराय अकिल थाना क्षेत्र के बुध पूरी मोहल्ले में रहने वाले अरुण कुमार जायसवाल एक समाचार पत्र से पत्रकार जिससे उन्हें सरकार द्वारा मान्यता भी मिली है पिछले लगभग 4 महीने से वह जिले में अवैध बालू खनन के मामले में अभियान छेड़े हुए थे उन्हीं के द्वारा चलाए गए अभियान में पहुंचे खनन अधिकारी को माफियाओं ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा इस मामले में प्रशासन की काफी आलोचना हुई जिसका खामियाजा आखिर पत्रकार को उठाना पड़ा पत्रकार पर पुलिस ने धारा 500, 166 आईटी एक्ट के तहत मुकदमा लिखा है गिरफ्तारी नहीं की जा सकती इसके बाद पत्रकार को स्थानीय पुलिस ने सारी रात थाने में बंद रखा स्थिति रात भर पत्रकार को कंबल ना देकर खुले मैं हवालात में बंद रखा गया मामले में प्रशासन की मिलीभगत से एसडीएम चैनल द्वारा धारा 151 पर जमानत ना देकर उन्हें जेल भेज दिया गया इस पूरे मामले से जिले के पत्रकारों में आक्रोश व्याप्त है | पत्रकार को रात भर कड़कती ठंड में बिना कंबल के पुलिस ने रखा | कौशांबी प्रशासन के खिलाफ सत्ता के खिलाफ लिखने की सजा सराय अकिल पुलिस ने एक पत्रकार को बखूबी दिया बिना किसी मुकदमे की जहां पुलिस ने उसे रात भर हवालात में बंद रखा इन पुलिस वालों ने इस कड़ाके ठंड में पत्रकार को एक कंबल तक नहीं दिया जिसके चलते वह सारी रात ठिठुरता रहा यह थी एक पत्रकार लेखीनी की सजा।

अपनी राय नीचे दिये हुए कमेंट बॉक्स में लिखें !