* आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें *

ैब् से देश व संवैधानिक महत्व से जुड़े मामलों के लाइव प्रसारण की गुहार

21-01-2018 22:45:16 पब्लिश - एडमिन



संविधान के अनुच्छेद-19 (1) (।) का हवाला देते हुए सर्वोच्च न्यायालय में प्रख्यात अधिवक्ता इन्दिरा जय सिंह ने दायर याचिका कर राष्ट्रीय और संवैधानिक महत्व से जुड़े मामलों के लाइव प्रसारण की मांग करके सबकों चैंका दिया है। आमतौर पर अभी तक ऐसे मामलों में मीडिया ट्रायल न करने की मांग की जाती रही है लेकिन वरिष्ठ अधिवक्ता इन्दिरा जय सिंह ने ऐसे मामलों की सुनवाई की वीडियो रिकार्डिंग और उसके सीधे प्रसारण की मांग की है।उन्होंने यह मामला सर्वोच्च न्यायालय के चीफ जस्टिस न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा की अगुवाई वाली पीठ के समक्ष उठाया। संयुक्त पीठ ने मामले पर विचार करने का आश्वासन दिया है। याची की ओर से सर्वोच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार जनरल, केन्द्रीय सूचना प्रसारण मंत्रालय और कानून मंत्रालय को प्रतिवादी बनाया गया है। याचिका में कहा गया है कि देशवासियों को सूचना प्राप्त करने का अधिकार है। याचिका में कहा गया है कि राष्ट्रीय और संवैधानिक मामलों में आम आदमी को यह जानने का अधिकार है कि आखिर न्यायालय में क्या हुआ! ऐसे मामलों में लोगों को समाचार न मिले, इसी वजह से ऐसे मामलों को लाइव प्रसारण हो और सुनवाई की वीडियो रिकार्डिंग होनी चाहिए। दायर याचिका में संविधान के अनुच्छेद-19 (1) (।) के तहत आम आदमी को यह मौलिक अधिकार प्राप्त है कि उसे कार्यवाही के बारे में जानकारी प्राप्त हो। याचिका में कहा गया है कि देश के लोकतांत्रिक ढांचे में हर आदमी राष्ट्रीय और संवैधानिक महत्व से जुड़े मामलों से जुड़ा हुआ है। अदालत के आदेशों को उस पर भी असर पड़ता है। इन परिस्थितियों में उसे यह अधिकार होना चाहिए कि वह सुनवाई का लाइव प्रसारण देखे या मामले की वीडियो रिकार्डिंग देखे।

अपनी राय नीचे दिये हुए कमेंट बॉक्स में लिखें !