सासंद के खिलाफ पत्रकारो का धरना,24 घंटे बाद भी  नहीं मुकदमा दर्ज,शासन सत्ता का दबाव 

04-11-2017 8:54:40 पब्लिश - एडमिन


रिपोटर- शिव कुमार 

स्थान-मऊ 


असंसदीय शब्दो के लिए जाने जाने वाले जिले के घोसी लोकसभा के सासदं हरीनारायण राजभर की बदजुबुनी को बेनकाब करने वाले चार मीडिया कर्मियो पर सासंद ने फर्जी मुकदमा कायम करा दिया ।दरअसल सासद ने सूबे के मुख्यमन्त्री को मा की गाली दिया था जिसको मीडियाकर्मियो ने प्रमुखता के साथ चलाया तो सासदं ने दोष भावना से ग्रसित होकर मुकदमा दर्ज कराया ।  

पूरा मामला था जिले के
स्थानीय सासदं हरीनारायण राजभर 25 अक्टूबर को छापेमारी करके कई गाडियो को छापेमारी करके पकडा और पुलिस को सूचना देकर बन्द करा दिया । खनन में पकडी गयी गाडियो को सासद ने खुद ही छुडवा दिया जिसका कोई मुकदमा या फिर पुलिस ने जीडी में नही दर्ज किया । सासद ने छापेमारी का वीडियो का बनाकर खुद ही मीडिया को दिया जिसकी खबर को मीडिया ने प्रमुखता के दिखाया था । इस मामले में सासद ने 27 अक्टूबर को मीडिया से प्रेस वार्ता किया प्रेस वार्ता के दौरान ही सासंद ने मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ को मा बहन की गाली दिया पुलिस वालो को मा बहन की गाली दिया फिर उसके बाद मीडिया को धमकी भी दिया इस खबर को रोक देना टेलीकास्ट नही करना नही तो अच्छा नही होगा। 

जिसके विरोध में कल पत्रकारो ने सासद के खिलाफ में कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराने की तहरीर दिया था । मुकदमा नही दर्ज होने पर आज पत्रकार कोतवाली में धरने पर बैठ गये है । हालाकि इस मामले में पत्रकारो की बात शहर कोतवाल सुरेश मिश्रा से हुयी तो कोतवाल ने उच्च अधिकारियो के निर्देश व जाँच करने की बात कह कर मामले को ठन्डे बस्ते में डाल दिया जिसके आक्रोश पत्रकार धरने पर बैठे गये । हालाकि इस मामले मे पत्रकारो का कहना है कि जब तक मामले में सासंद के खिलाफ में एफआईआर दर्ज नही होता है और एफआईआर की कापी पत्रकारो को नही मिलता है तब तक धरना जारी रहेगा।