* आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें *

विधायक के पीए के पुत्र-भतीजे ने पत्रकार को गोली मारकर को लूटा

05-02-2018 17:40:04 पब्लिश - एडमिन



बिहार के अरवल में सत्तारूढ़ जनता दल यू के विधायक के पीए के पुत्र और भतीजे ने एक पत्रकार को गोली मारकर एक लाख रूपये तथा लैपटाप लूट लिया। घायल पत्रकार को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बतायी गयी है। 
जानकारी के अनुसार अरवल के वंशी थाना क्षेत्रान्तर्गत सोनभद्र मठिया गांव स्थित बबूरी अहरा के निकट जदयू विधायक के पीए के पुत्र और भतीजे ने हिन्दी दैनिक के पत्रकार पंकज मिश्रा को गोली मारकर उनका लैपटाप और एक लाख रूपये लूट लिये। सड़क पर घायल अवस्था में पड़े पंकज पर बाइक से गुजरते एक युवक की नजर पड़ी तो ेउसने अपने पिता को बाइक से उतार कर खून से लथपथ पंकज को अरवल के सदर अस्पताल पहुंचाया जहां उसकी हालत गम्भीर देखते हुए पटना के पीएमसीएच रेफर कर दिया गया। पंकज की हालत खतरे से बाहर है। घटना की सूचना मिलने पर पीएमसीएच पहुंची पुलिस ने पंकज के बयान दर्ज किये। जदयू विधायक सत्यदेव कुशवाहा के पीए अनंत कुमार के पुत्र कुंदन कुमार और भतीजे अम्बिका वर्मा को इस मामले में नामजद किया गया है। पुलिस ने तत्परता से कार्रवाई करते हुए एक आरोपी कुंदन को तुर्क तेलपा से दबोच लिया जबकि गोली मारने वाले मुख्य आरोपी अम्बिका की तलाश में छापेमारी की जा रही है। एसपी दिलीप कुमार मिश्रा ने कुंदन की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए कहा कि पुलिस प्रभावी कार्रवाई करेगी। उधर अनुमंडल पुलिस अधिकारी शैलेन्द्र कुमार ने बताया कि कुंदन ने स्वीकार किया कि वह वारदात में शामिल था लेकिन गोली अम्बिका ने मारी है। लूटे गये पैसे और सामान तथा वारदात में प्रयोग की गई पिस्टल भी उसी के पास है। शैलेन्द्र मिश्रा ने बताया कि अम्बिका की घेराबंदी की गयी है। जानकारी के अनुसार पंकज कुमार मिश्रा पत्रकारिता करने के साथ ही गांव में पीएनबी के ग्राहक सेवा केन्द्र का संचालन करते थे। घटना के दिन वह माली बैंक से एक लाख रूपया निकाल कर बाइक से वापस लौट रहे थे कि रास्ते में घात लगाये बैठे कुंदन और अम्बिका ने सुनियोजित तरीके से कच्ची सड़क पर बांस का टुकड़ा डालकर उनका रास्ता रोका। उनके रूकते ही दोनों ने धावा बोलकर पैसे और लैपटाप लूट लिया तथा उन्हें गोली मारकर फरार हो गये।
 

अपनी राय नीचे दिये हुए कमेंट बॉक्स में लिखें !