* *** आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media2016@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें *** *

दो पत्रकारों के खिलाफ कोतवाली में मुकदमा दर्ज

18-07-2019 23:41:01 पब्लिश - एडमिन



नगर पालिका परिषद हाथरस के चेयरमैन ने दो पत्रकारों के खिलाफ कोतवाली में कराया मुकदमा दर्ज। पुलिस जांच में जुटी, पूछताछ के लिए पत्रकार कैलाश पौनियां को बुलाया कोतवाली, पत्रकारों ने पुलिस को नहीं दिए सबूत, बोले सक्षम न्यायालय में देंगे सबूत। 

हाथरस। पत्रकार कैलाश पौनियां पिछले कई दिनों से नगर पालिका परिषद हाथरस के भ्रष्टाचार और अनियमितताओं के बारे में सोशल मीडिया पर पोस्ट लिख रहे हैं,  पत्रकार कैलाश पौनियां द्वारा सोशल मीडिया पर की जा रही टिप्पड़ियां और पोस्ट जिले में चर्चाओं का विषय बनी हुई हैं। पौनियां की टिप्पणी सोशल मीडिया पर हलचल मचा रही हैं। उन्होंने दिनांक 23 जून 2019 को फेसबुक और व्हाट्सएप ग्रुपों पर शीर्षक-"' चेयरमैन के मंसूबों पर सांसद ने फेरा पानी, सांसद का प्रतिनिधि बताकर अधिकारियों पर रौब झाड़ना कर दिया शुरू""" से पोस्ट वायरल की। जिस पोस्ट से नाराज होकर हाथरस नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष आशीष शर्मा ने कोतवाली सदर हाथरस के प्रभारी निरीक्षक को विगत दिन प्रवेश राणा को प्रार्थना पत्र दिया था। कोतवाली सदर की पुलिस ने आज दोपहर को पत्रकार कैलाश पौनियां को फोन करके एसआई अनिल कुमार ने कोतवाली पूछताछ के लिए बुलाया ।  जहां कोतवाली में एसडीएम और सीओ मौजूद थे । सीओ सिटी और कोतवाल ने कैलाश पौनियां से पूछताछ की । ज्ञात हुआ है कि चेयरमैन हाथरस ने पत्रकार कैलाश पौनियां और आशीष सेंगर के विरुद्ध मानहानि का मुकदमा दर्ज कराने के लिए कोतवाली में प्रार्थना पत्र दिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है । पत्रकार कैलाश पौनियां से जब जानकारी की गई तो उन्होंने बताया कि आज कोतवाली सदर पुलिस ने मुझे कोतवाली फोन करके बुलाया था। उन्होंने बताया कि कोतवाल और सीओ ने शिष्टाचार और शालीनता के साथ व्यवहार किया और पूछताछ की, पुलिस ने सबूत मांगे पुलिस को हमने सबूत नहीं दिए क्योंकि सबूत सक्षम न्यायालय में दिये जायेंगे। पौनियां का कहना है की कि यह कदम चेयरमैन का आवाज को दबाने के लिए था । यह मीडिया की स्वतंत्रता पर खतरा है। चेयरमैन सच्चाई बर्दास्त नहीं कर पा रहे हैं । सच्चाई को दबाने का यह उनका कुत्सित प्रयास है।

पत्रकार कैलाश पुनिया की रिपोर्ट 


आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media2016@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें

अपनी राय नीचे दिये हुए कमेंट बॉक्स में लिखें !