गरीबों का घर बचाने को पुलिस से भिड़ी महिला पत्रकार

29-12-2017 10:02:11 पब्लिश - एडमिन


मुम्बई पुलिस के सामने दिलेरी से खड़ी होने वाली महिला पत्रकार को गरीबों का साथ देना उस समय भारी पड़ गया जब उन्होंने झुग्गी झोपड़ी हटाने के दौरान पुलिस कार्रवाई का विरोध किया। मशहूर द हिन्दू अखबार से जुडी प्रियंका सहित पांच महिलाओं को पुलिस ने बलपूर्वक हिरासत में ले लिया और वकोला पुलिस स्टेशन ले आयी। प्रियंका और पुलिस ने एक दूसरे पर आरोप लगाये हैं।

सपनों की नगरी और देश की आर्थिक राजधानी मुम्बई के सांताक्रूज इलाके में महानगर की खूबसूरती निखारने के लिए चलाये जा रहे झोपड पटटी हटाओे अभियान के खिलाफ मुम्बई पुलिस से भिड़ने वाली मशहूर अंग्रेजी अखबार द हिन्दू की स्तम्भकार फ्रीलांसर जर्नलिस्ट प्रियंका के खिलाफ वकोला पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है। प्रियंका ने आरोप लगाया कि महिला पुलिस कान्सटेबल ने उनका मोबाइल छीनने की कोशिश की ताकि वह न तो फोटो शूट कर सके और न किसी से बात न कर सके। पुलिस ने प्रियंका पर भीड़ को भडकाने का आरोप लगाया है।

द हिन्दू की स्तम्भकार और स्वतंत्र पत्रकार प्रियंका बोजपुजारी होटल ग्रांड हयात के करीब बरसों से बनी झुग्गी झोपड़ी हटाने का मामला कवर करने गयी थी। इस बीच मुम्बई पुलिस की एक महिला कान्सटेबल ने उनका मोाबाइल छीनने की कोशिश की ताकि वह कोई फोटाग्राफी न कर सके और न किसी से बात कर सके। उधर पुलिस का कहना है कि प्रियंका ने झुग्गी झोपड़ी हटाने का विरोध कर रही भीड़ का साथ देते हुए उसे उकसाने की कोशिश की। मुम्बई पुलिस की कार्रवाई को लेकर महानगर के कई दिग्गज पत्रकारों ने पुलिस कमिश्नर और मुम्बई पुलिस को टिवटर पर टैग किया। बाद में प्रियंका और चार अन्य महिलाओं को पुलिस ने छोड़ दिया। 

सीनियर एडिटर की कलम से ...aakrosh4media.com 

अपनी राय नीचे दिये हुए कमेंट बॉक्स में लिखें !