* *** आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media2016@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें *** *

झारखंड में संगठन के नाम पर नेता शाहनवाज़ हसन ने पत्रकारों से ठगे लाखों रुपए

07-07-2019 18:38:36 पब्लिश - एडमिन




पत्रकार और पत्रकारिता के नाम पर पत्रकारों को ठगने का सिलसिला जारी है। एक ऐसा ही मामला सामने आया है झरखण्ड कि राजधानी से जहां पत्रकार संगठन के नाम पर दुकानदारी चलाने वाले झारखण्ड जर्नलिस्ट एसोसिएशन का स्वघोषित कथित नेता शाहनवाज़ हसन ने रांची के मीडिया कर्मियों का लाखों रुपया हड़प लिया है. अपने मेहनत की गाढ़ी कमाई के लिए आधा दर्जन से भी ज़्यादा लोग परेशान हैं.

गत वर्ष शाहनवाज़ ने भोपाल से प्रसारित न्यूज़ चैनल न्यूज़ वर्ल्ड का फ्रेंचाइजी झारखण्ड में लिया था. 6 महीने काम कराने के बाद 3 महीने का सैलरी देकर शहनवाज़ ने हरमू रोड स्थित चैनल के दफ़्तर का शटर गिरा दिया. अपने आप को पत्रकारों का नेता बताने वाला शाहनवाज़ फिलहाल गायब है. लोग बड़ी ही बेसब्री से उसे ढूंढ रहे हैं।

रांची के एक सीनियर पत्रकार प्रभात जायसवाल का तीन महीने का बकाया न मिलने के कारण वे अपने पिता का इलाज ठीक से नहीं करा पाए. इसके चलते उनके पिता गुजर गए. प्रभात खुद भी डेंगू से  बीमार होकर गम्भीर हालत में रांची के गुरुनानक हॉस्पिटल में भर्ती थे तो भी शाहनवाज नें उनका बकाया पैसा नहीं दिया. उनकी माली हालत देखकर रांची के पत्रकार, जीएस ओझा, जय शंकर, अरविंद, रामदीन सहित दर्जनों पत्रकारों ने उन्हें आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई थी।

इसे भी पढ़े -- गटुये पत्रकार में हुआ शॉट सर्किट

शाहनवाज़ खुद को झारखण्ड जर्नलिस्ट एसोसिएशन नाम के एक पत्रकार संगठन की आड़ में बचा रहा है. वह इसी संगठन की आड़ में ग्रामीण पत्रकारों की आंखों में धूल झोंक रहा है. कई साल पुर्व जमशेदपुर में घृणा फैलाने को लेकर पुलिस ने हिरासत में भी उसे लिया था सूत्र बताते हैं कि उसपर एनआईए का जांच भी चल रहा है। आज वही शहनवाज आधा दर्जन पत्रकारों सहित उन पत्रकारों का भी वह मुजरिम है जिन्हें उसने अपनी धूर्तता से ठगा है. जिन पत्रकारों का पैसा लेकर वह फरार है, उन पत्रकारों के नाम इस प्रकार हैं-

सुबोध कुमार( आईटी कम कैमरामैन) छतीस हज़ार

चंदन वर्मा (रिपोर्टर कम कैमरामैन) दस हज़ार

राजेश कृष्ण (सीनियर रिपोर्टर) इकीस हज़ार

प्रभात रंजन(रिपोर्टर) छतीस हज़ार

कल्याणी सिंघल(मार्केटिंग एग्जक्यूटिव) बीस हज़ार

मृणाल कुमार (ऑफिस बॉय) दस हज़ार

रामेश्वरम प्रिंटर, रांची तीस हजार

प्रभात एडवरटाइजिंग नब्बे हज़ार

अरविंद (ब्यूरो हेड) पचहत्तर हज़ार

अब सवाल है कि ऐसे लोगों पर कार्रवाई क्यों नहीं होती, कार्रवाई नहीं होने के कारण ऐसे लोगों का मनोबल बढ़ जाता है। प्रशासन को भी चाहिए कि ऐसे फ़र्ज़ी लोगों पर कार्रवाई हो जिन्होंने पत्रकार सन्गठन के नाम पर अपना धंधा शुरू किया है।

अरविंद, रांची 9471584457


आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media2016@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें

अपनी राय नीचे दिये हुए कमेंट बॉक्स में लिखें !