* आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें *

आज तक के सीनियर जर्नलिस्ट पुण्य प्रसून वाजपेयी के सवाल पर भड़के बाबा रामदेव

19-01-2018 13:15:47 पब्लिश - एडमिन


लोकप्रिय चैनल आज तक के एक कार्यक्रम के दौरान योगगुरु बाबा रामदेव दिग्गज पत्रकार पुण्य प्रसून वाजपेयी पर उस समय बिफर गये जब वाजपेयी ने उनसे कर से बचने के लिए ट्रस्ट बनाने के सम्बन्ध में सवाल किया। योगगुरु बाबा रामदेव इस सवाल पर भड़क गये और वाजेपयी से नाराजगी भरे लहजे में कहा कि उन पर कर चोरी का इल्जाम लगाया जा रहा है। योगगुरु बाबा रामदेव ने कहा कि उन्होंने ट्रस्ट बनाकर कोई अपराध नहीं किया। उन्होंने ट्रस्ट के जरिये हजारों करोड़ रूपये कर राशि से जनोपयोगी कार्यक्रमों का संचालन किया है जिसमें गौ सेवा और सरंक्षण, योग, आयुर्वेद और प्राकृतिक चिकित्सा और शिक्षा के क्षेत्र में अनेक काम किये हैं। लाख स्पष्टीकरण के बावजूद वह यह साबित करने में सफल नहीं हुए कि उन्होंने कर कीअदायगीसे बचने के लिए ट्रस्ट बनाया है। पत्रकार वाजेपयी ने वार्तालाप के दौरान कहा था कि एक ओर जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश को आर्थिक महाशक्ति बनाने की बात कर रहे हैं तो इसके लिए जरूरी है कि देश को अधिक से अधिक कर राशि की प्राप्ति हो।

योगगुरू बाबा रामदेव ने कहा कि उन्होंने ट्रस्ट बनाकर समाज, चिकित्सा और शिक्षा सहित कई क्षेत्रों में बहुत काम किये हैं। उनके ट्रस्ट पर गबन या घोटाले का आरोप नहीं है। चर्चित पत्रकार अंजना ओम कश्यप ने भी बाबा रामदेव से धार्मिक चैनलों पर लगाये गये प्रसारण शुल्क पर सवाल पूछा तो बाबा रामदेव ने कहा कि धार्मिक चैनलों पर शुल्क लगाना गलत है। पुण्य प्रसून वाजपेयी ने बाबा रामदेव से जब यह कहा कि अगर उन्हें प्रवचन करने हैं तो वह सार्वजनिक मंचों से करे, चैनल का सहारा क्यों लेते हैं तो बाबा रामदेव ने उल्टे सवाल कर दिया कि तो क्या व्यभिचार और कामुकता परोसने वाले कार्यक्रम सही है! साक्षात्कार के दौरान उन्होंने कहा कि वह जाने से पहले प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति और योग तथा वैदिक ज्ञान को उस बुलन्दियों तक पहुंचाकर जायेंगे कि भारतवासी गर्व से विदेशों से आंखों से आंखें में डालकर कह सके कि उनका वैदिक ज्ञान आधुनिक ज्ञान से कहीं अधिक श्रेष्ठ और विकसित ज्ञान है।

(लिंक पर क्लिक करके देखे पूरा वीडियो) 

(नोएडा से एक वरिष्ठ पत्रकार की रिपोर्ट के आधार पर) 


आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें  

अपनी राय नीचे दिये हुए कमेंट बॉक्स में लिखें !