* *** आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media2016@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें *** *

राजस्थान पत्रिका की खबर के मुताबिक राष्ट्रपति ने अपने अभिभाषण में एयरस्ट्राइक का जिक्र किया तो सबने मेजें थपथपाकर स्वागत किया।

22-06-2019 14:20:19 पब्लिश - एडमिन


राम चंद्र कह गए सिया से ऐसा कलयुग आयेगा ....  तंबू में दिन कटेंगे और जय श्री राम से चिढ़ाया जाएगा

संसद की कार्यवाही का सीधा प्रसारण होता है तब भी दैनिक अखबार पाठकों को बताते हैं कि कौन क्या इशारा कर रहा था और कौन मोबाइल में व्यस्त था। इसमें दिलचस्प यह है कि राजस्थान पत्रिका की खबर के मुताबिक राष्ट्रपति ने अपने अभिभाषण में एयरस्ट्राइक का जिक्र किया तो सबने मेजें थपथपाकर स्वागत किया। मैं नहीं जानता कि उन्होंने क्या जिक्र किया - सिर्फ हमले का या 250 से लेकर 400 आतंकवादियों के मारे जाने का और अगर कोई मरा नहीं तो हमले के मकसद और उसे पूर्ण होने पर कुछ कहा कि नहीं। संसद की कार्यवाही मैं नहीं देख पाया। किसी अखबार में छपा होता तो पढ़ लेता, जान लेता। अब यह जिज्ञासा रह ही गई कि एयरस्ट्राइक की चर्चा राष्ट्रपति ने किसलिए, किस तरह की? मैं तो यही मानता हूं कि प्रधानमंत्री ने बादल वाले दिन हमला करवाकर चुनाव जीतने की व्यवस्था की थी। इस पर राष्ट्रपति ने क्या कहा या कुछ कहा कि नहीं और जिक्र कैसे किया यह मुझे पता करना पड़ेगा। खैर।

हमारे अखबार बता रहे हैं कि इसपर सोनिया गांधी अपने हाथ मेज थपथपाने से रोक नहीं पाईं। ... अलबत्ता मेज की ओर बढ़ रहे मां सोनिया गांधी के हाथ को उन्होंने (राहुल गांधी ने) रोकने की कोशिश भी की, लेकिन सोनिया नहीं मानीं ( अमर उजाला ने लिखा है ) सोनिया ने छह बार मेज थपथपाई। राष्ट्रपति के भाषण के दौरान सोनिया गांधी ने छह बार मेज थपथपाकर अभिवादन किया। सोनिया ने राहुल को कई बार इशारा भी किया, लेकिन वह समझ नहीं पाए। अब आप बताइए - क्या हुआ आप क्या समझे? राजस्थान पत्रिका ने सही लिखा है या अमर उजाला ने? और अगर सही ही लिखा है तो क्या यह खबर है? पहले पन्ने की हार्ड न्यूज? गप, झलकी, अटकल जैसा कुछ लिख रहे होते तो बात अलग थी। ये संसद की कार्यवाही की रिपोर्ट है जहां सबसे बड़े या सत्तारूढ़ दल के सदस्य मुस्लिम और टीएमसी के सांसद के शपथ लेने पर जय श्रीराम का नारा लगाते हैं और खुले आम उन्हें अपनी ऐसी ही प्रतिक्रिया देने के लिए उकसाते हैं। वहां मां-बेटे के बीच के इशारों पर अखबार अटकल लगाते हैं। इसपर यही कहा जा सकता है जो शीर्षक है।

(वरिष्ठ पत्रकार संजय कुमार सिंह जी की एफबी वॉल से )


ये भी पढ़े -- यूपी में फिर हुआ एबीपी के पत्रकार परअवैध उगाही का मुकदमा दर्ज, विज्ञापन के नाम पर लगा रहा था सरकार को लाखों का चुना


आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें 

अपनी राय नीचे दिये हुए कमेंट बॉक्स में लिखें !