aakrosh4media तक अपनी खबरे व् शिकायत पहुंचाने के लिए aakrosh4media2016@gmail.com पर मेल करें आप आक्रोश के सम्पादक संजय कश्यप को अपनी खबरे व् शिकायत WhatsApp भी कर सकते है WhatsApp NO है 9897606998, 9411111862, 7417560778

भईया जी, पतरकार हो, सन्मान करना है

जी हां, सही पढ़ा आपने...दरअसल, इन दिनों मायानगरी मुंबई में पतरकारों (पत्रकार नहीं) का धड़ल्ले से सनमान होने का मौसम चल रहा है...

पतरकारो को कभी कोई रेप और कास्टिंग काउच में फंसे छिनास्वामी सन्मान दे रहे हैं तो कभी कोई नशेड़ी, गरदुल्ले, चरसी और वसूलीबाज लकड़े का चमकीला तख्ता पकड़ा रहा हैं...
दिलचस्प तो ये है कि इसे देने, मतलब पकड़ाने के लिए ये सो कॉल्ड छिनास्वामी, दलाल और महिलाओं का शोषण करने वाले आयोजक मुम्बई में सोशल मीडिया और माउथ पब्लिसिटी माने मुंह से ,, या कभी-कभी फोन कर पुछते हैं- भैया जी, आप पतरकार हो, आपको सन्मान करना है...अगर सामने वाले से स्वीकार करने वाला जवाब नहीं मिलता है, तो ये आयोजक निराश, हताश या चिंता करने के बजाए किसी और "सेटरबाज" को कॉल कर इन पतरकारो को समारोह में बुलाने का "ठेका" दे देते हैं- भईया, इस बार जो अपना प्रोग्राम हो रहा है, उसके लिए 12 से 15 पतरकार लगेंगे, अपुन को इतने पतरकार चाहिए... आयोजन समिति का कॉल आने पर ठेकेदार गद-गद...क्योंकि उसे भी हर पतरकार पर कमिशन  मिलता है...जिससे प्रति आयोजन कमाई 5-10 हजार तक हो जाती है और पतरकारों से जान-पहचान अलग...कुछ पतरकार तो अपनी जेब से पैसा देकर नाम शामिल करवाने के जुगाड़ में रहते हैं, जिन्हें लकड़े पर स्टील मारकर बड़े-बड़े मोटे नाम मे अपना गोल्डन नाम देख कर दुकान चलाने की आदत और शौक है। ऐसे में, जब इन पतरकारो को तमगा मिलता है तो ये भैया जी खुश, इनकी पत्नी माने भाभी जी खुश, इनके चमचे दोस्त खुश और इनकी दुनिया भी खुश...माने पर्सनल से लेकर सोशल लाइफ तक... सबके सब खुशहाल... क्योंकि भैया जी बड़क्का पतरकार हो हो गए।
एतना बड़ा पतरकार की भईया जी को समाचार तो क्या, हिंदी में अपना नाम लिखने को बोलो, तो उसे सही-सही लिखना तो दूर, बोलने भी नहीं आता है...फिर भी भैया जी, पतरकारों का सरदार....और सरदार के साथ चेला-चमचों की बहार...ऐसे में अब मुंबई में आलम यह हो गया है कि जब कोई प्रतिष्ठित संस्थान किसी प्रतिष्ठित पत्रकार को सन्मान करना चाहते हैं, तो पत्रकार तपाक से आयोजकों से पहले ही पूछ डालता है- सर जी, नमस्कार!!! आपके यहाँ भी "भईया जी" आ रहे हैं सम्मानित होने के लिए.!!

मुंबई से एक पतरकार

आक्रोश4मीडिया इंडिया का no1 मिडिया पोर्टल है सिर्फ पत्रकार बन्धुओ के सहयोग से ही चल रहा है aakrosh4media.com हम व् हमारी आक्रोश की पूरी टीम आपकी राय और सुझावों की कद्र करती हैं। अतः आप अपनी राय, शिकायत , सुझाव और ख़बरें हमें This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it. पर भेज सकते हैं या 9358606998 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं। आक्रोश की आईडी है https://www.facebook.com/Aakrosh4media-608693262635672/ या आप ट्वीटर आईडी @aakrosh4media24 पर भी फॉलो कर सकते है