* आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है ! आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें *

माणिक की सादगी को तवज्जो नहीं देता राष्ट्रीय मीडिया

21-02-2018 17:40:19 पब्लिश - एडमिन

  • माणिक की सादगी को तवज्जो नहीं देता राष्ट्रीय मीडिया

  त्रिपुरा। राजस्थान में हुए उपचुनाव की खबरों को प्रमुख स्थान देने वाले प्रमुख समाचार पत्रों के साथ क्षेत्रीय समाचार पत्रों से पूर्वोत्तर के तीन राज्यों के विधानसभा चुनावों को पर्याप्त तवज्जो न दिये जाने से बरबस ही एक सवाल उठता है कि क्या मीडिय...

और पढ़ें !

नव गठित पूर्णिया प्रमंडल प्रेस क्लब के, नंदू अध्यक्ष,  कुंदन महासचिव होंगे

21-02-2018 15:53:44 पब्लिश - एडमिन

पूर्णिया में प्रमंडल स्तर पर प्रेस क्लब गठित में नंद किशोर नंदू को अध्यक्ष चुन लिया गया जबकि कुंदन सिंह को महासचिव पद सौंपा गया है। सत्येन्द्र कुमार सिन्हा और शैलेश कुमार को उपाध्यक्ष बनाया गया है जबकि प्रशांत चैधरी को सचिव की जिम्मेदारी दी गयी है। पूजा मिश्रा, भोला ठाकुर, रईस आलम और प्रफुल्ल आंेकार को संयुक्त सचिव की जिम्मेदारी दी गयी है। पंकज नायक को कोषाध्यक्ष और स्मित सिंह और विकास वर्मा को उपकोषाध्यक्ष बनाया गया।  मीडिया जगत में पूर्णिया प्रेस क्लब गठन को तथाकथित पत्रकारों के लिए झटका माना जा रहा है। बताया जाता है कि प्रमंडल में कई ऐसे कथित चर्चित पत्रकार सक्रिय हैं जो पत्रकारिता की आड में संगठन बनाकर अपनी पत्रकारिता चमकाने के सिवा कुछ नहीं कर रहे। पूर्णिया के तमाम पत्रकार इनसे परेशान थे। प्रेस क्लब के गठन से कुछ मठाधीश पत्रकार भी खासे चिन्तित बताये जाते हैं। नव गठित प्रेस क्लब के पदाधिकारियों  ने प्रदेश के मुख्यमंत्री से मुलाकात कर पत्रकार हितों की बाते रखी। प्रेस क्लब पदाधिकारियों की सीएम से बैठक का असर यह हुआ कि दूर दराज में काम करने वाले पत्रकार भी सामने आ गये और बड़ी संख्या में नव गठित प्रेस क्लब के सदस्य बन गये। बताया जाता है कि प्रमंडल स्तर पर फर्जी पत्रकारों की करतूतो से मीडिया की छवि पर प्रतिकूल प्रभाव हो रहा था। जनता को सही स्थिति से अवगत कराने के लिए ही प्रेस क्बल का गठन किया गया है।  कोर कमेटी में अखिलेश चन्द्रा, अरूण कुमार, राजीव कुमार, पंकज भरतिया, राजेश शर्मा, आदित्यनाथ झा, राजेन्द्र पाठक, मनोहर कुमार, दीपक कुमार दीपू, शशिरमन, रवि प्रकाश, अभय सिन्हा को जगह दी गयी है। अखिलेश जायसवाल, जेपी मिश्रा, शफी आलम, मनोज कुमार, चंदन चमन, नीरज कुमार, प्रवीण कुमार, सतोष नायक, तौसीफ आलम, मनोज कुमार सिंह, पिं्रस कुमार, नियाज कासमी, सुनील सुमन और प्रवीण भदौरिया, मुकेश श्रीवास्तव और शिवा चैधरी, श्याम नंदन, सुनील भारती, किशोर कुमार, राजीव कुमार और राकेश कुमार लाल, शरद कुमार और चिन्मयानंद को बतौर कार्यकारिणी सदस्य शामिल किया गया है। क्लब में सभी मीडिया हाउसों को प्रतिनिधित्व दिया गया है। नव निर्वाचित अध्यक्ष नंद किशोर सिंह ने भरोसा दिलाया कि पत्रकारों की एकता पर बल देने के साथ उनके हितों की रक्षा को प्राथमिकता दी जायेगी। मुख्यमंत्री ने भी कहा कि उनकी सरकार पत्रकार हितों की रक्षा को कृतसंकल्प है और हर लोकतंत्र के चैथे स्तम्भ को मजबूत किया जायेगा।  प्रेस क्लब अध्यक्ष नंद किशोर ने आश्वासन दिया कि प्रशासनिक अधिकारियों से तालमेल बनाकर काम किया जायेगा ताकि कामकाज में कोई बाधा उत्पन्न न हो। ...

और पढ़ें !

मशहूर जर्नलिस्ट और लेखक रजनीचर का निधन

21-02-2018 15:44:04 पब्लिश - एडमिन

लखनउ। सूबे की पत्रकारिता में अहम मुकाम रखने वाले तथा देश के कई नामचीन अखबारों में सेवाएं देने वाले वरिष्ठ पत्रकार रजनीचर को 78 साल की आयु में निधन हो गया। व्यंग्य विधा के महारथी रजनीचर प्रमुख हिन्दी दैनिक राष्ट्रीय सहारा का सम्पादकीय लिखते थे। कम्युनिस्ट विचारधारा से जुडे रजनीचर हिन्दू मुस्लिम एकता के प्रबल पक्षधर थे। उनकी इच्छा के अनुरूप् उनकी पत्नी नसीमा ने उनकी देह दान कर दी। प्रतिष्ठित अंग्रेजी दैनिक नेशनल हेरल्ड के हिन्दी संस्करण नवजीवन, जागरण, पाटलीपुत्र सहित कई समाचार पत्रों के साथ साथ वह अन्य समाचार पत्रों के लिए भी लेख लिखते रहे। हर विषय पर उनकी गहरी पकड़ थी।   ...

और पढ़ें !

इमरजेंसी जेल जाने वाले पत्रकार मिश्र नहीं रहे

20-02-2018 19:02:41 पब्लिश - एडमिन

सीतापुर। मिशन पत्रकारिता को समर्पित और आपातकाल के दौरान जेल जा चुके वयोवृद्ध पत्रकार कामरेड डा. गंगाराम मिश्र का 87 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। कामरेड डा. मिश्रा को आपातकाल के दौरान मीसा के तहत तत्कालीन सरकार ने जेल में डाल दिया था। देशदीप समाचार पत्र के सम्पादक कामरेड मिश्रा की सभी राजनीतिक पार्टियों मे अच्छी खासी पैठ थी। बीते शनिवार को दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया। रविवार का ेउनका अन्तिम संस्कार कर दिया गया। उनकी अन्तिम यात्रा में नगर के अधिकांश पत्रकारों और विभिन्न दलों के नेताओं ने भाग लिया। वह अपने पीछे भरापूरा परिवार छोड़ गये है।   ...

और पढ़ें !

इंडिया न्यूज स्ट्रगर ने कहा 30 हजार में ली आईडी

20-02-2018 18:51:57 पब्लिश - एडमिन

  • इंडिया न्यूज स्ट्रगर ने कहा 30 हजार में ली आईडी

सफल खबरिया चैनलों में शामिल हो चुके चैनल इंडिया न्यूज में उथल पुथल सी नजर आ रही है। एक ओर जहां चैनल प्रबन्धन ने चैनल के सर्वाधिक जाने पहचाने एंकर और एडिटर इन चीफ दीपक चैरसिया की खास समझी जाने वाली निधि कौशिक को हटा दिया वहीं दूसरी ओर चैनल के व्हाटस ...

और पढ़ें !

40 से ज्यादा भाषाएं-बोलियां खतरे में

19-02-2018 19:56:51 पब्लिश - एडमिन

नई दिल्ली। भारत की 40 से अधिक भाषाएं या बोलियों के अस्तित्व पर गम्भीर खतरा मंडराता दिख रहा है। इनके इस्तेमाल करने वालों की तादाद दिन प्रतिदिन कम होते जाने की वजह से यह भाषाएं और बोलियां खत्म होने  के कगार पर आ पहुंची है। जनगणना निदेशालय की रिपोर्ट के अनुसार देश में 22 अनुसूचित और 11 गैर अधिसूचित भाषाएं हैं जो लगभग एक लाख लोग बोलते हैं। गृह मंत्रालय के अनुसार 42 भाषाएं तो ऐसी है जिनके इस्तेमाल करने वालांे की संख्या 10 हजार से भी कम है। इन्हें लुप्त प्रायः माना जा रहा है और यह खत्म होने के कगार पर पहुंच चुकी है। गृह मंत्रालय के अधिकारी के मुताबिक यूनेस्कों की ओर से तैयार सूची मंे भारत की 42 भाषाएं और बोलियों का जिक्र किया गया है जिनके वजूद पर खतरा मंडरा रहा है। देर सवेर उनके विलुप्त होने की संभावना बरकार है। रिपोर्ट के अनुसार अंडमान निकोबार द्वीप समूह से 11 (ग्रेट अंडमानीज, जारवा, लामोेंगसे लूरो, मोउट, ओंगे, पू, ओंगे, सानयोने, सेंटिलेज, शोमपेन, और तटकाहनययिलांग) तथा मणिपुर से सात (एमोल, अका, कोइरन, लमगंाग, लांगरोंग, पुरूम और तराओ) और हिमाचल प्रदेश से चार भाषाएं/बोलियां जिनमें बगहाटी, हन्दूरी, पंगवाली और पंगवाली और सिरमौदी शामिल हैं। लुप्तप्रायः अन्य भाषाओं/बोलियों में मंदा, परजी, पेन्गो (ओडिसा), कोरगा और कुरुबा (कर्नाटक), गादाबा तथा नाकी (आन्ध्र प्रदेश), कोटा एवं थोड़ा (तमिलनाडु), मो और ना (अरूणाचल प्रदेश), ताई नोरा और ताई रोंग (असम), बंगानी (उत्तराखंड), बीरहर (झारखंड), निहाली (महाराष्ट्र),  रुगा (मेघालय) और टोटो (पं. बंगाल) शामिल हैं। मैसूर स्थित केन्द्रीय भाषा संस्थान केन्द्रीय योजना के तीत विलुप्ति के कगार पर पहुंची इन सभी भाषाओं के संरक्षण की दिशा में कार्यरत है। इसके तहत व्याकरण सम्बन्धी विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराना, मोनोलिंगुअल और द्विभाषिक शब्दकोष तैयार करने के काम किये जा रहे है। इसके अतिरिक्त भाषा के मौलिक नियम, उन भाषाओं की लोक कथाओं का संग्रह, इन तमाम भाषाओं या बोलियों के वैश्विक कोष तैयार किये जा रहे हैं। दस हजार की आबादी से कम जनसंख्या वाले लोगों की बोली जाने वाली भाषाओं की सूची तैयार करने पर फोकस किया गया है। इसके अलावा 22 अनुसूचित भाषाओं के अलावा 31 अन्य भाषाओं को विभिन्न राज्यों और संघ शासित प्रदेशों द्वारा आधिकारिक भाषा का दर्जा दिया गया है। जनगणना के आंकडों के अनुसार देश में 1, 635 तर्कसंगत मातृ भाषाएं, 234 पहचानी जाने वाली मातृभाषाएं तथा 22 प्रमुख भाषाएं हैं। ...

और पढ़ें !

स्टूडेंट के सवाल पर पीएम मोदी ने दी सलाह] पत्रकार बन जाओ

19-02-2018 19:41:03 पब्लिश - एडमिन

  नई दिल्ली। परीक्षार्थियों को तनावमुक्त होकर परीक्षा देने जैसे गहन विषय पर दिल्ली के ताल कटोरा स्टेडिय में छात्रों से रूबरू हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इंटर की परीक्षा देने जा रहे एक छात्र के सवाल के जवाब में उसे पत्रकार बनने की नसीहत दे डाली। उसके सवाल से हंसने के बाद प्रधानमंत्री ने कहा कि इस तरह घुमा फिराकर सवाल पूूछना पत्रकारों का ही काम होता है। पीएम मोदी ने छात्र से कहा कि अगर वह उसके शिक्षक होते तो उसे पत्रकार बनने की सलाह देते। ताल कटोरा में आयोजित इस पाठशाला में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वहां उपस्थित छात्र छात्राओं को परीक्षाओं के दौरान तनावमुक्त रहने के तौर तरीके बताये। इस बीच कक्षा 11 के गिरीश नामक छात्र ने एक ऐसा सवाल दागा कि प्रधानमंत्री सहित अन्य लोग हतप्रभ रह गये। गिरीश ने सवाल पूछा था कि अगले साल उसकी परीक्षा है और साथ ही आपकी यानि पीएम की भी परीक्षा होगी। गिरीश ने पूछा कि आपने अपनी परीक्षा के लिए क्या तैयारी की है। उसके इस सवाल पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हस पड़े। गिरीश ने पिफर कहा कि अगले साल क्यांेकि मेरी 12 वी की परीक्षा है और आपकी भी लोकसभा चुनाव में परीक्षा होगी। इसके जिउ आपने क्या तैयारी की है। क्या आप कुछ नर्वस हैं? गिरीश के प्रश्न पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हंसते हुए कहा कि इतना मुझे पक्का लगता है कि अगर मैं आपका टीचर होता तो आपको गाइड करता कि आप पत्रकारिता में जाईये, क्यांेकि ऐसे घुमा फिराकर सवाल पूछने की ताकत पत्रकारों की होती है। पीएम ने गिरीश को पढ़ने के लिए प्रेरित करते हुए कहा कि -‘आपने काम किया है, जो परिणाम सामने आयेगा, आयेगा। अंक के हिसाब से चलकर हम शायद वो नहीं पा सकते हैं तो हम पाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि वह राजनीति में इसी सिद्धान्त पर चलते हैं। उन्होंने कहा कि सब कुछ सवा सौ करोड देशवासियों के लिए लगाता रहूं। चुनाव आयेंगे-जायेंगे, वो बाय प्रोडट होता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि हम लोगों की ऐसी हालत है कि 24 घंटों परीक्षा होती रहती है। उन्होंने कहा कि देश के किसी कोने में हम कोई नगर पालिका चुनाव हार जाये तो वह भी ब्रेकिंग न्यूज बन जाती है। आक्रोष4मीडिया भारत का नंबर 1 पोर्टल हैं जो की पत्रकारों व मीडिया जगत से सम्बंधित खबरें छापता है !आक्रोष4मीडिया को सभी पत्रकार भाइयों की राय और सुझाव की जरूरत है ,सभी पत्रकार भाई शिकायत, अपनी राय ,सुझाव मीडिया जगत से जुड़ी सभी खबरें aakrosh4media@gmail.com व वव्हाट्सएप्प पर भेजें 9897606998... |संपर्क करें 9411111862 .खबरों के लिए हमारे फेसबुक आई.डी https://www.facebook.com/aakroshformedia/ पर ज़रूर देखें     ...

और पढ़ें !

कासगंज हिंसा के कवरेज पर पत्रिका सम्पादक पर मुकदमा, रालोद भड़का

18-02-2018 20:51:09 पब्लिश - एडमिन

  • कासगंज हिंसा के कवरेज पर पत्रिका सम्पादक पर मुकदमा, रालोद भड़का

  अलीगढ़। गणतंत्र दिवस पर एटा के कासगंज में हुई हिंसा को लेकर ‘‘व्यवस्था दर्पण’’ नामक मासिक पत्रिका  और न्यूज पोर्टल के सम्पादक जिया उर्ररमान पर भ्रामक खबरें प्रकाशित करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। भाजपा न...

और पढ़ें !

‘‘समाचार प्लस’’ चैनल के सीईओ उमेश कुमार रेप के आरोप में अरैस्ट!

18-02-2018 20:40:09 पब्लिश - एडमिन

  • ‘‘समाचार प्लस’’ चैनल के सीईओ उमेश कुमार रेप के आरोप में अरैस्ट!

  नई दिल्ली।बलात्कार और जान से मारने की धमकी के आरोपों में नामजद समाचार प्लस चैनल के सीईओ उमेश कुमार की गिरफ्तारी की खबर मीडिया जगत के गलियारों में गंूज रही है। मशहूर अखबार डेक्कन क्रानिकल अखबार की वेबसाइट पर एएनआई के हवाले से उमेश कुमार की गिर...

और पढ़ें !

मजीठियाः खौफजदा सहायक प्रबन्धक गार्ड लेकर पहुंचे उपश्रमायुक्त कार्यालय

16-02-2018 20:18:52 पब्लिश - एडमिन

  • मजीठियाः खौफजदा सहायक प्रबन्धक गार्ड लेकर पहुंचे उपश्रमायुक्त कार्यालय

बरेली। पहली सुनवाई के दौरान मजीठिया क्रान्तिकारियों का कोपभाजन बने हिन्दुस्तान बरेली यूनिट के सहायक प्रबन्धक सत्येंद्र अवस्थी कम्पनी के दो सुरक्षा गार्डो को साथ लेकर उपश्रमायुक्त कार्यालय पहुंचे। दैनिक हिन्दुस्तान प्रबन्धन मजीठिया वेज बोर्ड के वेतन ...

और पढ़ें !

मजीठिया

मजीठियाः खौफजदा सहायक प्रबन्धक गार्ड लेकर पहुंचे उपश्रमायुक्त कार्यालय

कहासुनी